स्वस्थ भारत डॉट इन

Category : स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

SBA विशेष आयुष विविध साक्षात्कार स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

Featured गौ संवर्धन से पर्यावरण संरक्षण में हाथ बटाइए :डॉ. वल्लभ भाई कथिरिया, चेयरमैन कामधेनु आयोग

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के चेयरमैन एवं पूर्व सांसद एवं केंद्रीय मंत्री डॉ वल्लभ भाई कथिरिया पर्यावरण संरक्षण के आंदोलन में गौ संवर्धन का मुद्दा सबसे महत्वपूर्ण बताते हुए 5 जून विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पर्यावरण संरक्षण का एक नया आयाम जोड़ दिया है। डॉक्टर कथिरिया विश्व पर्यावरण दिवस

गुजरात के शिक्षा मंत्री ने दिखाई हरी झंडी

आशुतोष कुमार सिंह
बापू के शहीदी दिवस पर उनके अंतिम जन तक पहुंचने के सपने को साकार करने के लिए स्वस्थ भारत न्यास की देश के 29 राज्यों की 90 दिन की यात्रा साबरमती आश्रम से शुरू हुई। इसे गुजरात के कद्दावर नेता और प्रदेश के शिक्षा मंत्री भूपेन्द्र सिह चुड़ास्मा ने झंडी...
यात्रा रपट समाचार स्वस्थ भारत अभियान स्वस्थ भारत यात्रा स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

शहीदी दिवस 30 जनवरी से शुरू हुई स्वस्थ भारत यात्रा-2

आशुतोष कुमार सिंह
सस्ती दवाइयों पर जागरूकता के लिए 21000 किमी की स्वस्थ भारत यात्रा शुरू, गुजरात के शिक्षा मंत्री ने दिखाई हरी झंडी · 90 दिनों तक चलेगी यात्रा, देश के सभी राज्यों में जाएंगे यात्री · प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना का मिला सहयोग एवं समर्थन · जनऔषधि, पोषण एवं आयुष्मान के...
आयुष चौपाल यात्रा रपट समाचार स्वस्थ भारत अभियान स्वस्थ भारत यात्रा स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

प्रेस विज्ञप्ति

आशुतोष कुमार सिंह
सादर प्रकाशनार्थ सस्ती दवाइयों पर जागरूकता के लिए 21000 किमी की यात्रा करेगा स्वस्थ भारत 90 दिनों तक चलेगी यात्रा, देश के सभी राज्यों में जाएंगे यात्री जनऔषधि, पोषण एवं आयुष्मान के बारे में लोगों को किया जायेगा जागरूक महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती वर्ष में गांधी को याद...
समाचार स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए थे गांधी

swasthadmin
केरल के इतिहास में 1924 में आई उस बाढ़ को महाप्रलय के नाम से जाना जाता है। उसे अब भी ग्रेट फ्लड ऑफ 99 कहा जाता है। 99 इसे मलयालम कैलेंडर के हिसाब से कहा जाता है। यह बाढ़ इस कैलेंडर के लिहाज से 1099 में आई थी। उस समय
स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

चल झांक ले उसकी ऐनक से…

swasthadmin
महात्मा गांधी ने जितने भी प्रयोग किए उसका मकसद ही यह था कि एक स्वस्थ समाज की स्थापना हो सके। गांधी का हर विचार, हर प्रयोग कहीं न कहीं स्वास्थ्य से आकर जुड़ता ही है। यहीं कारण है कि स्वस्थ भारत डॉट इन 15 अगस्त,2018 से उनके स्वास्थ्य चिंतन पर
स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

राम धुन: एक अचूक इलाज़

Amit Tyagi
हमें शरीर के बदले आत्मा के चिकित्सकों की जरूरत है। अस्पतालों और डाक्टरों की वृद्धि कोई सच्ची सभ्यता की निशानी नहीं है।  इस विचार के बीस साल बाद 15 जून 1947 को हरिजन सेवक के अंक मे गांधी जी कहते हैं कि आपको यह जानकार खुशी होगी कि चालीस साल
स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

राम नाम अंतर्मन को शुद्ध करता है

swasthadmin
कोई भी प्राकृतिक उपचार अपने बीमार को यह नहीं कहेगा कि तुम मुझे बुलाओ तो मैं तुम्हारी सारी बीमारी दूर कर दूंगा। उपचार बीमार को सिर्फ ये बता सकता है कि प्राणी मात्र में रहने वाला और सब बीमारियों को मिटाने वाला तत्व कौन सा है ? और किस तरह
समाचार स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

कुदरती ईलाज़ का महत्व

Amit Tyagi
हरिजन सेवक के 24 मार्च 1946 के अंक मे गांधी जी लिखते हैं, वैद्यो और डॉक्टरों के राम नाम रटने की सलाह देने से रोगी का दुख दूर नहीं होता। जब वैद्य स्वयं उसके चमत्कार को जानता हो, तभी रोगी को भी उसके चमत्कार का पता चलता है। राम नाम
swasthbharat.in में आपका स्वागत है। स्वास्थ्य से जुड़ी हुई प्रत्येक खबर, संस्मरण, साहित्य आप हमें प्रेषित कर सकते हैं। Contact Number :- +91- 9891 228 151