समाचार

अभिनव फार्मेसी अभियान ने दिय़ा जोर का झटका

एडीसी दफ्तर का घेराव
जोधपुर के दर्जनों दवा दुकान पर छापामारी, फार्मासिस्ट नहीं पाए गए, होगी कार्रवाई

जोधपुर/10.10.15
ऐसा लगता है कि आजकल देश के फार्मासिस्टों में नई स्फूर्ति आ गयी है। फार्मासिस्ट डे के दिन झारखंड के जमशेदपुर से जो हुंकार भरी गयी

जोधपुर के एडीसी कार्यालय से निकलते हुए अभिनव फार्मेसी अभियान के कार्यकर्ता
जोधपुर के एडीसी कार्यालय से निकलते हुए अभिनव फार्मेसी अभियान के कार्यकर्ता

थी उसका असर पूरे देश में देखने को मिल रहा है। 28 अक्टूबर को फार्मासिस्ट फाउंडेशन, यूपी व छत्तीसगढ़ फार्मासिस्ट एसोसिएशन केहजारों कार्यकर्ता जनहित में जहां एक ओर सड़क पर उतर गए थे वहीं आज जोधपुर में अभिनव फार्मासिस्ट एसोसिएशन ने एडिशनल ड्रग कंट्रोलर के दफ्तर की नकाबंदी कर दी। हजारों कार्यकर्ता जनहित में जहां एक ओर सड़क पर उतर गए थे वहीं आज जोधपुर में अभिनव फार्मासिस्ट एसोसिएशन ने एडिशनल ड्रग
कंट्रोलर के दफ्तर की नकाबंदी कर दी। घंटो तक नारेबाजी होती रही। आनन-फानन में अधिकारियों ने शहर के दवा दुकानों पर छापामारीकरने के लिए एक टीम गठित की। इस टीम ने  श्री आई जी होस्पिटल मेडिकल स्टोर, भारत होस्पिटल मेडिकल स्टोर ,  सरस्वती होस्पिटल मेडिकल स्टोर ,सरोज हॉस्पिटल मेडिकल स्टोर ,  सत्यम होस्पिटल मेडिकल स्टोर , आशीर्वाद मेडिकल स्टोर , अंबिका होस्पिटल मेडिकल स्टोर,  गजदर मेडिकल स्टोर सहित तमाम दवा दुकानों पर छापामारी की। ज्यादातर दुकानों पर फार्मासिस्ट की उपस्थिति नहीं पायी गयी। छापामारी में कई दुकानों पर एक्पायर दवाइयां भी बरामद हुई। अभिनव फार्मेसी अभियान के संयोजक सुरेन्द्र चौधरी ने बताया कि उनकी टीम
छापामारी करते औषध विभाग के अधिकारी
छापामारी करते औषध विभाग के अधिकारी

लगातार एडीसी दफ्तर के अधिकारियों को यह बता रही थी कि शहर में कई दुकाने बिना फार्मासिस्ट की चल रही हैं लेकिन अधिकारी सुन नहीं रहे थे। इसलिए हमने लोकतांत्रिक तरीके से मसले को जनता के सामने लाने का प्रयास किया। हम चाहते हैं कि जहां पर दवा हो वहां फार्मासिस्ट उपस्थिति अनिवार्य रूप से हो।
गौरतलब है कि पिछले दिनों फार्मासिस्ट जागृति संस्थान राजस्थान के सदस्यों की मेहनत से दर्जनों फार्मासिस्टों ने रेंट पर दिए गए सर्टिफिककेट को वापस लिया था।
 

Related posts

पूर्वोत्तर राज्यों में पीसीआई के कायदे कानून कागजी खानापूर्ति

swasthadmin

10 करोड़ आदिवासी जनसख्या के स्वास्थ्य पर राष्ट्रीय कार्यशाला

गंदे हाथों से नसबंदी, 4 महिलाओं की मौत

swasthadmin

1 comment

Satish Kumar Suthar May 29, 2018 at 6:49 pm

My name is satish kumar .. l am a registered pharmacist .. Guys l am facing big problem …My farm name is .. Satish medical store siyana jalore…L want little help from … Abhinav pharmacy sansthan…Can l have any contact no..So please ..

Reply

Leave a Comment

swasthbharat.in में आपका स्वागत है। स्वास्थ्य से जुड़ी हुई प्रत्येक खबर, संस्मरण, साहित्य आप हमें प्रेषित कर सकते हैं। Contact Number :- +91- 9891 228 151