समाचार

सुर्ख़ियों में है PJSR राजस्थान का अभियान

जहाँ दवा वहां फार्मासिस्ट की मांग हुई तेज़ 
सुर्ख़ियों में है फार्मासिस्ट जाग्रति संस्थान राजस्थान का अभियान

ADC के साथ बैठक करते पीजेएसआर के पदाधिकारी
ADC के साथ बैठक करते पीजेएसआर के पदाधिकारी

अलवर / राजस्थान:02.11.2015
राजस्थान के फार्मासिस्टों ने औषधि विभाग के खिलाफ जगह जगह मोर्चा खोल दिया है इसी क्रम में अलवर जिले में फार्मासिस्ट जाग्रति संस्थान (राजस्थान) के जिलाध्यक्ष दुर्गेश चौधरी ने पहले बैठक की फिर अपने साथी सदस्यों के साथ एडीसी से मुलाकात कर करवाई हेतु जनादेश दिया । अलवर के एडीसी ने संगठन के सदस्यों द्वारा की गई शिकायत को गंभीरता से लेते हुवे करवाई करने का आश्वासन दिया है ।
पीजेएसआर के मीडिया प्रभारी महेश ने बताया की अलवर जिले में सैकड़ों दवा दुकानें बगैर फार्मासिस्ट के चल रही है। प्रशासन को बार बार चेतावनी देने के वावजूद कोई करवाई नहीं हो रही है। अधिकारी कोई ना कोई बहाना बनाकर टाल मटोल कर देते है। गैर फार्मासिस्ट द्वारा दवा वितरण करने से जहाँ एक तरफ मरीज़ो की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा, वही नशीली दवा युवाओं को अपने चपेट में ले रही है।
फार्मासिस्ट जागृति संस्थान अलवर के जिला संरक्षक हरेन्द्र पाठक ने फार्मासिस्टों से अपील जारी कर कहा  है कि वे अपना सर्टिफिकेट किसी सुरत में दवा व्यवसाइयों को ना दें और अपनी खुद की दुकान खोलें । संगठन हर तरह से मदद को तैयार है।
सुर्ख़ियों में है फार्मासिस्ट जाग्रति संस्थान राजस्थान का अभियान
फार्मासिस्ट जाग्रति संस्थान राजस्थान के संस्थापक व प्रदेशाध्यक्ष सर्वेश्वर शर्मा ने स्वस्थ भारत डॉट इन से बातचीत में कहा कि पुरे प्रदेश में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जल्द ही अवैध और बगैर फार्मासिस्ट के संचालित सभी मेडिकल स्टोर को बंद कराया जाएगा। सर्वेश्वर शर्मा ने फार्मासिस्ट साथियों को संगठन से जुड़कर अभियान को तेज़ करने की अपील की है ।
जहाँ दवा वहां फार्मासिस्ट की मांग करते अलवर के फार्मासिस्ट
जहाँ दवा वहां फार्मासिस्ट की मांग करते अलवर के फार्मासिस्ट

अभियान का सञ्चालन करनेवालों में अलवर जिले हेमराज सैनी, प्रदीप शर्मा, महेश, जीतेन्द्र, हीरा चौधरी समेत सैकड़ों युवा फार्मासिस्ट शामिल है ।
 
स्वास्थ्य जगत की खबरों से अपडेट रहने के लिए स्वस्थ भारत अभियान के फ़ेसबुक पेज से जुड़ें ।

Related posts

फार्मासिस्ट को मिले प्रिस्क्रिप्सन का अधिकार : विवेक मौर्य

swasthadmin

केरल से निपाह वायरस का खतरा टला, केरल जाना अब सुरक्षित

swasthadmin

पीएम ने कार्बन क्रेडिट के बजाय ग्रीन क्रेडिट पर दिया बल

Sunil Jha

1 comment

Your Name... November 4, 2015 at 10:21 am

सुन्दर अभियान चलाया जा रहा है।

Reply

Leave a Comment

swasthbharat.in में आपका स्वागत है। स्वास्थ्य से जुड़ी हुई प्रत्येक खबर, संस्मरण, साहित्य आप हमें प्रेषित कर सकते हैं। Contact Number :- +91- 9891 228 151