स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

हार्ट अटैक से बचना है तो ऐसा न करें कोरोना के मरीज

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। युवा वर्ग में भी हार्ट अटैक की बढ़ती घटनाओं के बीच स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा है कि जिनको कोरोना हो चुका है वे कुछ सालों तक एहतियात बरत कर ऐसी दुखद स्थिति से अपने को बचा सकते हैं। हालांकि कुछ महीने उन्होंने ही इस बात को खारिज किया था कि कोरोना या उसकी वैक्सीन से ऐसे मामलों का कोई सीधा संबंध है।

एक-दो साल रहें परहेज से

एक रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री ने कोविड-19 के बाद बढ़ रहे हार्ट अटैक के मामलों पर कहा कि जिन लोगों को कोविड-19 का गंभीर इंफेक्शन हुआ था, उन्हें कम से कम एक से दो साल तक कुछ काम करने से बचना चाहिए। उन्होने कहा कि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने इस पर एक स्टडी भी है। इसमें देखा गया कि जो लोग पूर्व में कभी भी गंभीर कोविड इंफेक्शन झेल चुके हैं, उन्हें हार्ट अटैक से बचने के लिए एक से दो साल तक ज्यादा शारीरिक मेहनत वाला कोई भी काम नहीं करना चाहिए।

न करें भारी-भरकम काम

उनके मुताबिक ज्यादा मेहनत वाले कामों में हेवी वेट लिफ्टिंग, रनिंग, इंटेंस डांस और एरोबिक एक्सरसाइज आदि हैं जिसमें दिल और फेफड़े पर जोर पड़ता है। घर के कामों में भी बहुत ज्यादा शारीरिक परिश्रम करना भारी पड़ सकता है।

Related posts

बहाल हुए हरियाणा के निष्कासित एनएचएम कर्मी

Ashutosh Kumar Singh

दिल्ली के अस्पताल में ट्रांसजेंडरों के लिए OPD चालू

admin

साइबर अपराधों को हल करने के लिए फोरेंसिक लैब चालू

admin

Leave a Comment