स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

कोरोना मरीज रहे लोग बन रहे हार्ट पेशेंट

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। दिल्ली AIIMS की एक स्टडी में सामने आया है कि कोरोना के बाद काफी लोगों को हार्ट की बीमारी हो गई। इतना ही नहीं, ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में नहीं रहता है। एम्स के डॉक्टरों ने कोविड मरीजों को सलाह दी है कि कोविड की वजह से हार्ट की आर्टरी के सेंसर में फॉल्ट आ जाता है और वह सही से काम नहीं कर पाती। इस वजह से कोविड के बाद लोगों के ब्लड प्रेशर में गिरावट आने की समस्या देखी गई है।

Blood test से ही हो जायेगी गंभीर रोग की जांच

अब केवल खून की जांच से कैंसर या मैंनेनजाइटिस का पता लगाया जा सकता है। अब तक कैंसर की जांच के लिए बायोप्सी और मैंनेनजाइटिस यानी दिमागी बुखार के लिए रीढ़ की हड्डी का पानी यानी सेरेब्रल स्पाइनल फ्लूड (CCF) निकालने की जटिल प्रक्रिया से गुजरना नहीं पड़ेगा। इसके लिए IIT खड़गपुर और कानपुर की प्रज्ञा पैथोलाजी के प्रबंध निदेशक मिलकर शोध कर रहे हैं। ट्रायल में लैब से मिली कैंसर संक्रमितों की रिपोर्ट से मिलाकर करने पर 95 प्रतिशत तक सटीक रिपोर्ट मिल रही है। इसकी प्रामाणिकता के बाद डिवाइस व चिप तैयार की जाएगी जो सस्ती व कारगर होगी। इस पर 2022 से ही काम चल रहा है।

देखते-देखते 7 फीट 2 इंच हो गई लंबाई

लखनऊ के लोहिया अस्पताल में एक मरीज की लंबाई बढ़ने के कारण ट्यूमर को हटाने की सर्जरी की गई है। इस ट्यूमर की वजह से मरीज 7 फीट 2 इंच लंबा हो गया है। डॉक्टरों ने बताया कि ट्यूमर बहुत छोटा था, लेकिन समय के साथ इसने ग्रंथियों की ग्रोथ हार्माेन्स को बढ़ाया और मरीज की लंबाई में बढ़ोतरी हुई। पिट्यूटरी ग्रंथि में ट्यूमर ने उसे असाधारण रूप से लंबा बना दिया था। उसे इस बारे में पता तब चला, जब उसे आंखों से जुड़ी समस्याएं होने लगीं। मरीज सीरज कुमार हमीरपुर का रहने वाला है।

Related posts

भ्रष्ट है राजस्थान का ड्रग डिपार्टमेंट – सर्वेश्वर शर्मा

Vinay Kumar Bharti

यह चिंटुवा की नहीं, 45 करोड़ प्रवासी मजदूरों की कहानी है

Ashutosh Kumar Singh

स्वास्थ्य की कुंजी गांधी के राम

admin

Leave a Comment