स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

कलाबोध से ही बनेगा एक सुंदर समाज : Prof. Sanjay Dwivedi

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। कलाओं को समर्पित संस्था आर्ट अमीगोस द्वारा आयोजित चार दिवसीय बहुआयामी कला उत्सव ‘पलाश’ का समापन समारोह इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र, नई दिल्ली में संपन्न हुआ।

आमजन में होगा कला के प्रति रुझान

समापन समारोह के मुख्य अतिथि भारतीय जन संचार संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि कोरोना की त्रासदी से कलाकारों को उबारने के लिए ऐसे और प्रयासों की आवश्यकता है। उन्होंने कहा ऐसे कार्यक्रम कला के प्रति सामान्य जनों की रुचि का विकास करते हैं और कलाबोध पैदा करते हैं। एक सुंदर समाज बनाने में कलाओं की बहुत खास भूमिका है।

कई कार्यशालायें आयोजित

इस अवसर पर प्रख्यात ओडिसी नृत्यांगना, पद्मश्री से अलंकृत रंजना गौहर, संस्कृतिकर्मी मालविका जोशी, कलाकेंद्र की निदेशक और आईपीएस अधिकारी प्रियंका मिश्र सहित बड़ी संख्या में कलाकार और कला प्रेमी उपस्थित थे। 17 अप्रैल से शुरू हुए पलाश उत्सव में में सौ से अधिक कलाकारों ने अपने चित्र तथा विभिन्न हस्त कलाओं का प्रदर्शन किया। इसके साथ ही कलाकारों के लिए उपयोगी कार्यशालाएं तथा व्याख्यान आयोजित किए गए। देश के प्रख्यात कलाकारों ने बातिक, छापा कला, रेजिन कला जैसी कार्यशालाएं आयोजित की।

कलाकारों का हुआ उत्साहवर्द्धन

पलाश का शुभारंभ सांसद सोनल मानसिंह, वरिष्ठ पत्रकार रामबहादुर राय, विख्यात लेखिका मालती जोशी और विख्यात कलाकार अद्वैत गणनायक ने किया। आर्ट अमीगो के संस्थापक दुष्यंत जोशी और उनकी पूरी टीम के इस प्रयास की सभी कला रसिकों ने सराहना की जिससे कलाकारों का उत्साहवर्द्धन हुआ। इस उत्सव में कोलकाता, भोपाल, चेन्नई, लखनऊ, अहमदनगर, पुणे, अलीगढ़, जम्मू सहित देश के अन्य हिस्सों से कलाकारों ने भाग लिया। कार्यशालाओं को प्रसिद्ध कलाकारों शैली ज्योति, सागरिका बनर्जी, आनंदिता आदि ने संबोधित किया। इसमें बरदा उकील आर्ट स्कूल सहित कई महत्वपूर्ण संस्थाओं के विद्यार्थियों ने भाग लिया।

Related posts

HWC स्वास्थ्य और कल्याण के मंदिर : मनसुख मांडविया

admin

2025 तक भारत को टीबी मुक्त बनाने की दिशा में सरकार कर रही है काम-डॉ. मनसुख मांडविया, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री

admin

देहरादून में स्वास्थ्य चिंतन शिविर का आयोजन

admin

Leave a Comment