स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

Lymphatic Filariasis उन्मूलन के लिए बनाया जाये रोडमैप

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। लसीका फिलेरियासिस को खत्म करने के लिए भारत के रोडमैप पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने किया। इसके लिए उन्होंने जन-भागीदारी के माध्यम से बीमारी को खत्म करने का आह्वान किया। उन्होंने इसके उन्मूलन के लिए वैश्विक लक्ष्य से तीन साल आगे 2027 तक एक रोडमैप तैयार करने का आग्रह किया।

चार राज्यों में ज्यादा मरीज

मालूम हो कि चार राज्यों (यूपी, ओडिशा, तेलंगाना और बिहार) में 60 फीसद लिम्फेडेमा के मामले हैं जबकि चार राज्यों (ओडिशा, झारखंड, यूपी और बिहार) में 80 फीसद हाइड्रोसील के मामले हैं।

पोलियो उन्मूलन से सीखना होगा

LF को समयबद्ध तरीके से खत्म करने के भारत के संकल्प को दोहराते हुए, डॉ. मंडाविया ने इस बात पर जोर दिया कि भारत के विविध भौगोलिक और सामाजिक-आर्थिक आयामों के बावजूद, हर क्षेत्र और भागीदार की अपनी ताकत है, जिसका उपयोग करना हमारा लक्ष्य है क्योंकि हम रणनीति के साथ आगे बढ़ते हैं। भारत ने दुनिया को दिखाया है कि हम जन-भागीदारी के जरिए पोलियो मुक्त हो सकते हैं।

India Model बनाना होगा

उन्होंने कहा कि हमें अपनी प्राथमिकताओं की पहचान और अपनी योजनाओं को कुशलतापूर्वक लागू करने के लिए अपनी ताकत का लाभ उठाने के आधार पर अपना ‘India Model’ बनाना चाहिए। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल ने कहा कि एलएफ विशिष्ट भौगोलिक क्षेत्रों और हमारे समाज के ज्यादातर गरीब और दलित वर्ग को प्रभावित करता है। उन्होंने कहा कि बैकलॉग को जल्द से जल्द साफ करने की आवश्यकता है।

Related posts

‘सामाजिक आपातकाल’ के दौर में देश: प्रधानमंत्री

Ashutosh Kumar Singh

स्वस्थ भारत अभियान

Ashutosh Kumar Singh

विवाह पूर्व भावी जोड़ों के अनुवांशिक परीक्षण में सहायक होगा जीनोम सीक्वेंसिंग

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment