स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

ABDM को अपनाने में तेजी लाने के लिए NHA की कार्यशाला आयोजित

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) ने देश भर में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM) को तेजी से अपनाने में सक्षम बनाने के लिए राज्य मिशन निदेशकों, IRDAI, WHO, हेल्थ इंडस्ट्री लीडर्स, हेल्थ टेक कंपनियों, विकास संगठनों, भागीदार गैर सरकारी संगठनों आदि के साथ आवश्यक कदमों पर विचार-मंथन करने के लिए बेंगलुरु में एक कार्यशाला का आयोजन किया।

रमन अस्पताल का दौरा

आयोजन के हिस्से के रूप में टीम ने अस्पताल द्वारा अपनाई गई ABDM सक्षम प्रक्रियाओं और उनके जमीनी स्तर पर प्रभाव के बारे में जानने के लिए बेंगलुरु के सी.वी. रमन जनरल अस्पताल का दौरा किया। अस्पताल ने हाल ही में QR CODE आधारित OPD पंजीकरण सेवा लागू की थी जिससे उन्हें OPD ब्लॉक में वेटिंग टाइम को काफी कम करने में मदद मिली है। कार्यशाला के दौरान प्रतिभागियों ने ABDM के तहत नवीनतम विकास पर चर्चा की जो स्वास्थ्य क्षेत्र में सही अंतर-संचालन को सक्षम करेगा और एबीडीएम को प्रभावी ढंग से अपनाने से यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज (UHC) की दिशा में मार्ग प्रशस्त होगा।

राज्यों ने साझा किये अनुभव

कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और आंध्र प्रदेश, जो ABDM के शुरुआती अंगीकार करने वाले राज्यों में रहे हैं, उनके राज्य मिशन निदेशकों ने सार्वजनिक अस्पतालों में और राज्य के स्वास्थ्य कार्यक्रमों के हिस्से के रूप में एबीएचए के निर्माण और स्वास्थ्य रिकॉर्ड को जोड़ने से अपने अनुभवों और सीखों को साझा किया। सरकार की ओर से प्रयासों के बारे में बात करते हुए, क्षमता निर्माण आयोग और भारतीय गुणवत्ता परिषद के अध्यक्ष आदिल ज़ैनुलभाई ने QR CODE आधारित OPD पंजीकरण जैसे उपयोगी व्यवस्था को विकसित करके डिजिटल हेल्थ ईकोसिस्टम को मजबूत करने और पॉलिसी फ्रेमवर्क पर काम करके ABDM को अपनाने के लिए एक पुल-फैक्टर के रूप में तैयार करने की बात कही।

मंच तैयार करना बड़ी चुनौती

कार्यशाला का समापन करते हुए डॉ. आर.एस. शर्मा, CEO, NHA ने कहा-ABDM तकनीकी क्षमताओं की कई परतों और हितधारकों के एक विशाल समूह वाली एक जटिल योजना है। उन सभी को एक साथ लाना और सहयोग के लिए एक मंच तैयार करना मुख्य चुनौती है। हालांकि, योजना को अपनाने को सुनिश्चित करने के लिए हितधारकों के बीच पारस्परिकता काफी महत्वपूर्ण है।

Related posts

Monkeypox अब ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी नहीं रही

admin

‘विज्ञान सर्वत्र पूज्यते’ में मुख्य आकर्षण बना पुस्तक मेला

admin

बिहार को शीघ्र मिलेगा सुपरस्पेशिएलिटी अस्पतालों का तोहफा

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment