स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

Study : दिल्ली के 34 फीसद किशोर मानसिक तनाव में

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। दिल्ली Aiims की एक स्टडी रिपोर्ट कहती है कि यहां के शहरी इलाके में रहने वाले में से कम से कम 34 फीसद किशोर मानसिक तनाव और परेशानी से जूझ रहे हैं। इसमें से 22.4 फीसद डिप्रेशन से और 6.7 फीसद टेंशन से ग्रस्त हैं।

48 फीसद किशोर तंबाकू के लती

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली एम्स के सेंटर फॉर कम्युनिटी मेडिसिन और मनोरोग विभाग की ओर से अध्ययन किया गया था। दक्षिण-पूर्व दिल्ली स्थित अंबेडकर नगर की एक शहरी कॉलोनी, दक्षिणपुरी एक्सटेंशन में किए गए इस अध्ययन में यह भी पाया गया कि जिन लोगों में मानसिक परेशानी देखी गई, वे या तो धूम्रपान कर रहे थे या किसी न किसी रूप में तंबाकू का सेवन कर रहे थे। कम से कम 5.3 प्रतिशत ने धूम्रपान करने वाले तंबाकू का इस्तेमाल किया था और 5.1 प्रतिशत ने गुटखा, खैनी या पान मसाला जैसे तंबाकू का सेवन किया था। इनमें से ज्यादातर लोग (48 प्रतिशत) रोजाना तंबाकू का सेवन करते थे।

औसत से कहीं ज्यादा आंकड़े मिले

ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज स्टडी (2019) के अनुसार 10-24 साल के किशोरों और युवा वयस्कों में विकलांगता समायोजित जीवन वर्षों (DALYs) में डिप्रेशन और टेंशन शीर्ष 10 कारणों में शामिल हैं। एम्स की रिसर्च भारतीय मनोरोग पत्रिका में प्रकाशित हुई थी। रिसर्च के प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर आफताब अहमद ने कहा कि अध्ययन में बताई गई मानसिक परेशानियों (34 प्रतिशत) का प्रसार राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण 2015-16 में बताए गए प्रसार (13-17 साल के बच्चों में 7.3 प्रतिशत) से कहीं ज्यादा है। रिसर्च में पाया गया है कि ज्यादातर प्रतिभागी (84.9 फीसद) अक्सर बाहर का खाना खाते थे।

Related posts

HWC स्वास्थ्य और कल्याण के मंदिर : मनसुख मांडविया

admin

टीबी हारेगा, देश स्वस्थ होगा… राष्ट्रपति ने लॉन्च किया अभियान

admin

तीन राष्ट्रीय आयुष संस्थानों का लोकार्पण 11 दिसंबर को

admin

Leave a Comment