स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

ड्रोन से ब्लड बैग डिलीवरी का ट्रायल रन सफल

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। भारत में ड्रोन इकोसिस्टम का विस्तार करते हुए ICMR ने अपनी आई-ड्रोन पहल के तहत ड्रोन से ब्लड बैग की डिलीवरी का ट्रायल रन सफलतापूर्वक पूरा किया। इस ट्रायल उड़ान से रक्त की 10 यूनिट भेजी गयी। इस अभियान में लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज (LHMC), ग्रेटर नोएडा के राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (GIMS) और नोएडा के जेपी इंस्टिट्यूट ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (JIIT) का सहयोग मिला। अब ड्रोन इकोसिस्टम का विस्तार कृषि, रक्षा, आपदा राहत और स्वास्थ्य सेवा जैसे क्षेत्रों तक होगा।

महामारी काल में हुआ प्रयोग

इससे पहले भी ICMR ड्रोन से मणिपुर और नागालैंड के दूरदराज के क्षेत्रों में टीके और दवाओं के वितरण का सफलतापूर्वक संचालन किया है। रक्त की ड्रोन आधारित डिलीवरी ब्लड पहुंचाने में लगने वाले समय को कम कर देगी।

ड्रोन से भेजने पर प्रोडक्ट को नुकसान नहीं

ICMR के महानिदेशक डॉ. राजीव बहल ने कहा-इस आई-ड्रोन का उपयोग पहली बार महामारी के दौरान अगम्य क्षेत्रों में टीके पहुंचाने के लिए किया गया था। आज हम रक्त और रक्त से संबंधित ऐसे उत्पादों को भेज कर रहे हैं, जिन्हें कम तापमान पर रखा जाना चाहिए। इस प्रयोग के बाद हमने पाया कि न केवल हम तापमान को बनाए रख सकते हैं, बल्कि भेजने के दौरान उत्पादों को भी कोई नुकसान नहीं हुआ है। हमने एंबुलेंस के माध्यम से एक और नमूना भेजा और अगर दोनों तरीकों का उपयोग करके भेजे गए नमूनों में कोई अंतर नहीं होता है, तो फिर इस ड्रोन का उपयोग पूरे भारत में किया जाएगा।

भविष्य में और उड़ानों की तैयारी

अब जांचकर्ता आगे और ड्रोन उड़ानें संचालित करेंगे ताकि पैक्ड लाल रक्त कोशिकाओं, ताजा फ्रोज़न प्लाज्मा, प्लेटलेट्स की गुणवत्ता को इस अध्ययन में मान्य कर सकें। इस अध्ययन के निष्कर्ष रक्त उत्पादों पर ड्रोन परिवहन के प्रभाव की जांच के लिए भारत की तरफ से वैज्ञानिक प्रमाण प्रदान करेंगे। इस स्टडी से ब्लड बैग्स और पदार्थों की डिलीवरी के लिए ड्रोन्स के उपयोग और उनकी व्यापक उपयोगिता को लेकर SOP बनाने का मार्ग प्रशस्त होगा।

Related posts

राष्ट्रपति ने किया पल्स पोलियो कार्यक्रम का शुभारंभ

Ashutosh Kumar Singh

लैवेंडर सिर्फ सौंदर्य नही, रोजगार का सशक्त माध्यम भी : मंत्री

admin

सेहत के लिहाज से भी उपवास फायदेमंद

admin

Leave a Comment