स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

डेंगू के खात्मे की जगी उम्मीद, दवा का परीक्षण सफल

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। फिलहाल देश के कई राज्यों में डेंगू का कहर देखने को मिल रहा है। छोटे से बड़े अस्पताल तक डेंगू के मरीजों से भरे हुए हैं। इस बीच राहत की खबर ये है कि Johnson & Johnson कंपनी ने एक ऐसी दवा तैयार की है, जो डेंगू वायरस से लड़ने में मदद कर सकती है। न्ै में किए एक छोटे ह्यूमन ट्रायल में इसके पॉजिटिव रिजल्ट देखने को मिले हैं। यह दवा चार किस्म के डेंगू के उपचार में काम आ सकेगी। ह्यूमन ट्रायल के तीसरे फेज सफल रहा तो दवा को बाजार में उतारा जायेगा।

कम उम्र की महिलाओं में भी स्तन कैंसर

40 वर्ष से कम उम्र की भारतीय महिलाओं में 25 प्रतिशत से अधिक स्तन कैंसर के मामले मिलते हैं। पिछले पांच वर्षों में करीब 1.50 लाख स्क्रीनिंग का विश्लेषण करते हुए स्वास्थ्य सेवा प्रदाता अपोलो ने यह जानकारी दी है। यह भी पता चला है कि भारतीय महिलाओं में स्तन कैंसर की घटनाओं की औसत आयु अमेरिका और ब्रिटेन जैसे पश्चिमी देशों की तुलना में लगभग दस साल पहले है। डाटा के मुताबिक स्तन कैंसर के 25 प्रतिशत मामले 39 वर्ष या उससे कम उम्र में हुए। स्तन कैंसर के डायग्नोसिस के समय दर्ज न्यूनतम आयु 23 वर्ष है।

कई कंपनियों की दवा जांच में फेल

केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (cdsco) की रिपोर्ट के मुताबिक हिमाचल की 13 फार्मा कंपनियों की 16 दवाओं की गुणवत्ता खराब निकली है। उसकी अलग-अलग टीमों ने देशभर से सितंबर में 1188 सैंपल लिए थे, जिनमें 60 दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं। इसमें खांसी, जुकाम, उच्च रक्तचाप, शुगर, दस्त, टायफायड, एलर्जी, जलन, मल्टीविटामिन, आयरन व फालिक एसिड सहित आंखों में संक्रमण की दवा भी थी। हिमाचल के अलावा उत्तराखंड व पंजाब की छह-छह, राजस्थान व दिल्ली की चार-चार, गुजरात व पुडुचेरी की तीन-तीन, मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश में निर्मित दो-दो दवाओं की गुणवत्ता में खोट मिली है।

Related posts

यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज डे का आयोजन 10 से वाराणसी में

admin

जेपी नड्डा ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के रूप में पदभार संभाला

Ashutosh Kumar Singh

स्टील कचरे के उपयोग से होगा टिकाऊ सड़क का निर्माण

admin

Leave a Comment