स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

कोरोना के बाद औसत आयु में दो साल की कमी का दावा

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। WHO ने कोरोना के जोखिमों को लेकर ने बड़ी जानकारी साझा की है। रिपोर्ट में उसने कहा है कि महामारी के कारण वैश्विक जीवन प्रत्याशा में लगभग दो साल की कमी आ गई है। लेकिन बात इतनी ही नहीं हे। महामारी के और भी दुष्प्रभाव समने आये हैं मसलन कई अन्य बीमारियों का प्रकोप, बच्चों में मोटापा और कुपोषण आदि का भी रिस्क बढ़ा है।

आंखों की दुश्मन हैं ये Eye Drops

आंख संपूर्ण शरीर का वो महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसके बिना आपका हर कदम लड़खड़ा सकता है लेकिन इसकी देखभाल के प्रति लोग आमतौर पर लापरवाह रहते हेैं। कोई समस्या आने पर मेडिकल स्टोर से आई ड्रॉप्स ले आते हें। लेकिन एक्सपर्ट आगाह करते हैं कि ऐसा न करें। कोई आई ड्रॉप लेने से पहले डॉक्टर से जरूर राय लें। खासकर यह ध्यान दें कि जिस आई ड्रॉप में प्रेडनीसोलोन (prednisolon), डेक्सामीथासोन (Dexamethasone) और बीटामीथासोन (Betamethasone) हो तो उसे न लें क्योंकि इससे फायदा के बदले नुकसान हो सकता है।

डायबिटीज खत्म करने में चीन का सफल प्रयोग

डायबिटीज के निदान की दिशा में चीन को अभूतपूर्व सफलता मिली है। उसने इंसुलिन लेने वाले डायबिटीज मरीज को ठीक कर दिया है। चीनी वैज्ञानिकों ने एक इनोवेटिव सेल थेरिपी का इस्तेमाल कर यह काम किया। इस बारे में सेल डिस्कवरी जर्नल में रिपोर्ट भी आ चुकी है। इसके अनुसार तीन साल पहले एक मरीज का इलाज सेल ट्रांसप्लांट के जरिए किया गया। इसके 11 सप्ताह बाद इंसुलिन की निर्भरता खत्म हो गई। साथ ही मरीज ने ब्लड शुगर की दवा लेने भी बंद कर दी।

Related posts

डेंगू के बढ़ते केस से स्वास्थ्य मंत्रालय चिंतित

admin

कोरोना-काल: उज्ज्वल भविष्य की राह दिखाती ई-शिक्षा

Ashutosh Kumar Singh

शोधकर्ताओं ने विकसित किया पोर्टेबल कीटाणुशोधन उपकरण

admin

Leave a Comment