स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

चीन में कोरोना की हालत 2020 जैसी, बड़ी तबाही की आशंका

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। चीन में सख्त प्रतिबंध खत्म होने के बाद एक बार फिर कोरोना के मामलों में इजाफा हो रहा है। दो दिन पहले यहां दो हजार मरीजों की पुष्टि हुई लेकिन एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह आंकड़ा अभी और बढ़ेगा। चूंकि सर्दियों में संक्रमण ज्यादा फैलेगा, इसलिए अगले साल 10 लाख मौतें होने की आशंका भी है।

फिलहाल कोरोना की पहली लहर

एपिडिमियोलॉजिस्ट वू जुनयू ने बताया कि अभी चीन में संभावित तीन लहरों में से पहली लहर चल रही है। इसके बाद दूसरी लहर जनवरी में आएगी। इस वक्त वहां लूनर ईयर सेलिब्रेशन चलता है, जिसमें लाखों लोग देश में आते-जाते हैं। ऐसे में मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है। तीसरी लहर फरवरी के आखिर से मार्च के बीच आ सकती है। इस समय सभी लोग अपनी छुट्टियां मानकर वापस लौटते हैं। ऐसे में ज्यादा लोग इन्फेक्शन रिपोर्ट कर सकते हैं।

अमेरिका का अनुमान भी ऐसा ही

अमेरिका के ‘इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मैट्रिक्स एंड इवेलुएशन’ ने अनुमान लगाया है कि 2023 तक चीन में कोरोना के कारण 10 लाख से ज्यादा लोगों की मौत होगी। ये अनुमान चीन में कोविड प्रतिबंधों के खात्मे के बाद की स्थिति को ध्यान में रखते हुए लगाए गए हैं। रिपोर्ट की मानें तो चीन में अप्रैल की शुरुआत में कोरोना मामलों का पीक आएगा। उस समय तक मौतों की संख्या 3 लाख 22 हजार तक पहुंचने की आशंका है। उसके डायरेक्टर क्रिस्टोफर मुर्रे के अनुसार अप्रैल तक चीन की एक तिहाई आबादी को कोरोना का संक्रमण हो चुका होगा। उधर चीन का कहना है कि उसकी 90 प्रतिशत आबादी फुली वैक्सीनेटेड हैं। मगर 80 साल की उम्र से ज्यादा के लगभग 50 प्रतिशत लोगों का ही पूरा वैक्सीनेशन हुआ है जबकि गंभीर इन्फेक्शन का सबसे ज्यादा डर इन्हें ही है।

Related posts

पत्रकारों की होगी कोविड-19 की जांच, डीजेए ने किया स्वागत

Ashutosh Kumar Singh

Healthcare पर सरकारी खर्च को लेकर लैंसेट और मंत्रालय में ठनी

admin

CDRI’s efforts to combat novel coronavirus

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment