स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

गीता प्रेस, गोरखपुर को मिलेगा 2021 का गांधी शांति पुरस्कार

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। वर्ष 2021 का गांधी शांति पुरस्कार गीता प्रेस, गोरखपुर को प्रदान किया जायेगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में निर्णायक मंडल ने 18 जून को सर्वसम्मति से यह तय किया है। गीता प्रेस, गोरखपुर को यह पुरस्कार अहिंसक और अन्य गांधीवादी आदर्शों के माध्यम से सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक क्षेत्र में परिवर्तन लाने में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जा रहा है।

सौ साल में 41. 7 करोड़ पुस्तकें प्रकाशित

ज्ञात हो कि वर्ष 1923 में स्थापित गीता प्रेस विश्व में सबसे बड़े प्रकाशकों में से एक है। इसने 14 भाषाओं में 41.7 करोड़ पुस्तकों का प्रकाशन किया है, जिनमें 16.21 करोड़ श्रीमद भगवद गीता पुस्तकें शामिल हैं। इस संस्था ने राजस्व सृजन के लिए कभी भी अपने प्रकाशनों के लिए विज्ञापन नहीं लिए। गीता प्रेस अपने संबद्ध संगठनों के साथ जीवन के उत्तरोत्तर विकास और सर्वजन-कल्याण के लिए प्रयासरत है। प्रधानमंत्री ने गीता प्रेस के योगदान का स्मरण कर उसके कार्यों की सराहना की।

मिलेगी एक करोड़ की राशि

यह पुरस्कार सरकार द्वारा स्थापित एक वार्षिक पुरस्कार है। वर्ष 1995 में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 125वीं जयंती के अवसर पर उनके आदर्शों के प्रति श्रद्धांजलि स्वरूप इस पुरस्कार की स्थापना की गई थी। पुरस्कार में एक करोड़ रुपए की राशि, एक प्रशस्ति पत्र, एक पट्टिका और एक उत्कृष्ट पारंपरिक हस्तकला/हथकरघा विशिष्ट कृति प्रदान की जाती है।

इन सबको मिल चुका है सम्मान

इससे पूर्व पुरस्कार विजेताओं में इसरो, रामकृष्ण मिशन, विवेकानंद केंद्र (कन्याकुमारी), अक्षय पात्र (बेंगलुरु), एकल अभियान ट्रस्ट (भारत) और सुलभ इंटरनेशनल (नई दिल्ली) जैसे संगठन शामिल हैं। यह पुरस्कार प्राप्त करने वाले विशिष्ट व्यक्तियों में स्वर्गीय डॉ. नेल्सन मंडेला, तंजानिया के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. जूलियस न्येरेरे, श्रीलंका के सर्वाेदय श्रमदान आंदोलन के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. ए.टी. अरियारत्ने, बाबा आमटे, दक्षिण अफ्रीका के आर्कबिशप डेसमंड टूटू, श्री चंडी प्रसाद भट्ट और बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान शामिल रहे हैं।

Related posts

तो ऐसे लूट रहे हैं दिल्ली-एनसीआर में मरीज…एक्सरे की जगह निकाला खून

Ashutosh Kumar Singh

Waste से Wealth : प्लास्टिक वेस्ट की रीसाइक्लिंग से प्रदूषण कम करने का आह्वान

admin

सदर अस्पताल के कर्मचारी हड़ताल पर गए

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment