स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

रूस में मिला कोरोना जैसा नया वायरस, महामारी पनपने के लक्षण

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। अब एक और वायरस का इंतजार कीजिये। रूस में कोरोना की तरह ही चमगादड़ों में एक नए वायरस का पता चला है। अभी यह चमगादड़, पैंगोलिन, रैकून कुत्ते और सिवेट जैसे जंगली जानवरों और पक्षियों में फैल रहा है। इसका नाम खोस्ता-2 (Khosta-2) है। इसमें इंसानों को संक्रमित करने का सामर्थ्य है। ऐसा हुआ तो कोरोना वैक्सीन भी इस पर काबू नहीं कर सकेगी।

जर्नल में दी जानकारी

प्लोस पैथोजन्स जर्नल में प्रकाशित रिसर्च के अनुसार अगर आपने कोविड वैक्सीन का डोज लिया है तो भी खोस्ता-2 के इन्फेक्शन से बचना कठिन है। इस वायरस को पहली बार 2020 में पहचाना गया था। हालांकि तब शोध करने वालों को लगा था कि यह इंसानों को नुकसान नहीं पहुंचाएगा। लेकिन अब नयी शोध में पता चला है कि यह वायरस दुनिया में तबाही ला सकता है। जानकारों के मुताबिक खोस्ता-2 भी कोरोना वायरस का ही एक प्रकार है। Time मैगजीन की रिपोर्ट के मुताबिक खोस्ता-2 जैसा ही एक खोस्ता-1 वायरस भी है, लेकिन यह इंसानों को संक्रमित नहीं करता। शोध करने वालों का कहना है कि खोस्ता-2 भी इंसान के सेल्स (कोशिकाओं) में घुस जाता है। हालांकि कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट की तरह यह लोगों को गंभीर रूप से बीमार नहीं कर सकता है। मगर यह Sars-Cov-2 के जीन्स के साथ जरूर मिल सकता है। यदि यह कोरोना के साथ मिल जाता है तो इसका संक्रमण खतरनाक साबित हो सकता है। हालांकि इसकी संभावना काफी कम है।

यूनिवर्सल वैक्सीन पर बनाने पर शोध

वैसे दुनियाभर के वैज्ञानिक एक ऐसी वैक्सीन तैयार करने में लगे हुए हैं जो केवल Sars-Cov-2 के नए वैरिएंट से ही नहीं, बल्कि खोस्ता-2 जैसे हर कोरोना वायरस से बचा सके। चूंकि मौजूदा वैक्सीन्स कोरोना वायरस के हर प्रकार से लड़ने में सक्षम नहीं हैं, इसलिए इनकी डिजाइन और फॉर्मूला को और बेहतर करने की जरूरत है।

Related posts

हीटर हो या अंगीठी, राहत के साथ खतरे भी कम नहीं

admin

‘किलकारी’ बतायेगा कि गर्भस्थ शिशु की तबीयत कैसी हो !

Ashutosh Kumar Singh

भारत फार्मास्युटिकल और चिकित्सा उपकरण सम्मेलन 25 से

admin

Leave a Comment