स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

खानपान पर दें ध्यान तो बचेंगे जानलेवा रोगों से

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। खानपान में लापरवाही से मोटापा, इम्यूनिटी कमजोर होना, डायबिटीज, कैंसर, हाई बीपी और थायराइड जैसी घातक बीमारियां हो सकती हैं। इस बारे में सेंटर फॉर डिजीज (CDC) ने कुछ सलाह दी हुई है जिसका पालन सबको करना चाहिए। जैसे जब तक बच्चा 12 महीने का न हो जाए, तब तक उसे शहद न चटाएं। एडेड शुगर वाले फूड्स और ड्रिंक्स से बचना चाहिए। मीठे पेय पदार्थ, डेजर्ट, आइसक्रीम, पेस्ट्री और कूकीज आदि का कम सेवन करना चाहिए। सोडा, सॉफ्ट ड्रिंक, फ्लेवर्ड मिल्क, स्पोर्ट्स ड्रिंक, फ्लेवर्ड वाटर, शुगर जूस आदि का सीमित उपयोग करें। नमक वाली चीजों का कम सेवन करें।

भारत में हर 10 मिनट में एक बच्चे को कैंसर

WHO के मुताबिक कैंसर से जूझ रहे दुनिया के 20 फीसद बच्चे अकेले भारत में हैं। डॉक्टर कहते हैं कि बड़ों की तुलना में बच्चों को कैंसर से बचाना ज्यादा आसान है, फिर भी भारत में 49 फीसद बच्चों को इलाज ही नहीं मिल पाता। अधिकतर अस्पतालों में उनके इलाज की व्यवस्था और डॉक्टर ही नहीं हैं। यही वजह है कि जहां अमेरिका में 80 फीसद बच्चे कैंसर से बचा लिए जाते हैं, वहीं भारत जैसे देशों में 70 फीसद बच्चों की मौत हो जाती है।

कैंसर-मधुमेह में लाभकारी इस पौधे की पत्तियां

पारंपरिक चिकित्सा प्रणाली में औषधीय पौधों का अपना महत्व है। ऐसा ही लक्ष्मी तरु नामक पौधा होता है जिसके बारे में एक्सपर्ट कहते हैं कि प्रथम और द्वितीय स्टेज के कैंसर को ठीक करने में इसकी पत्तियां अहम योगदान निभाती हैं। यह पौधा नीम की तरह विशाल हो जाता है। बेंगलुरु एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर डॉ. श्यामसुंदर जोशी ने इस पर 30 साल तक रिसर्च किया है। इसी तरह इंसुलिन का पौधा भी होता है जिसकी पत्तियों को उबालकर पीने से मधुमेह में फायदा होता है।

Related posts

जम्मू को मिला एम्स का तोहफा

admin

दरभंगा में बनेगा अत्याधुनिक सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल

admin

6 दिनों से भूखे अनशनकारियों को पीटा, जेल में डाला और बिना मेडिकल के छोड़ दिया है मरने के लिए

Leave a Comment