स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

हेल्थ सेक्टर को नया आयाम देगा मस्क का ब्रेन चिप

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। एलन मस्क की कंपनी न्यूरालिंक ने ब्रेन चिप विकसित किया है जिसका पहला परीक्षण सफल रहा है। मस्क ने कहा है कि जिस व्यक्ति के दिमाग में चिप लगाई गई है, उसकी सेहत में सुधार हो रहा है। समझिये कि यह दिमाग का ट्रांसप्लांट है। हेल्थ सेक्टर में इसकी सफलता दूर तक प्रभाव डालने में सक्षम हो सकती है।

अमेरिकी एजेंसी की मिली मंजूरी

इसे पिछले साल यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से मंजूरी मिली थी। न्यूरालिंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार इंडीपेंडेंट इंस्टीट्यूशनल रिव्यू बोर्ड से मंजूरी मिल चुकी है। मेडिकल डिवाइस PRIME (Precise Robotically Implanted Brain Computer Interface) का ट्रायल सफल रहा था, जिसमें वायरलेस ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस का परीक्षण किया गया था। इस परीक्षण का उद्देश्य इंसानी दिमाग में चिप लगाने की सेफ्टी का आकलन किया गया था।

मस्क का स्टार्टअप है न्यूरालिंक

रिपोर्ट के अनुसार न्यूरालिंक मस्क का एक स्टार्टअप है, जिसकी शुरुआत 2016 में कुछ वैज्ञानिकों और इंजीनियर्स के साथ मिलकर हुई थी। यह ब्रेन चिप इंटरफेस बनाने का काम करती है, जिन्हें इंसानी खोपड़ी में इंप्लांट किया जा सकेगा। इसकी मदद से दिव्यांग लोग जो चल-फिर नहीं सकते या बात नहीं कर सकते या देख नहीं देख सकते, वे फिर से कुछ हद तक बेहतर जीवन जी सकेंगे। इसकी मदद से न्यूरल सिग्नल को कंप्यूटर या फोन जैसी डिवाइस पर ट्रांसमिट किया जा सकेगा।

कई रोगों का इलाज संभव

दावा है कि इस तकनीक से कई तरह की बीमारियों और दिक्कतों से छुटकारा मिल सकता है। यह मोटापे का इलाज करेगा, लकवाग्रस्त मरीज़ों को राहत मिलेगी, मानव क्षमताओं को सुपरचार्ज किया जा सकेगा और न्यूरोलॉजिकल विकारों का इलाज संभव होगा। इससे केवल सोचने भर से कई डिवाइस काम करने लगेंगे। इससे पहले चिप का परीक्षण जानवरों पर किया गया था। 2022 में कंपनी को जांच का भी सामना करना पड़ा था। आरोप है कि कंपनी ने परीक्षण के दौरान 1500 जानवरों की जान ली, इनमें चूहे, बंदर, सुअर आदि शामिल हैं। हालांकि कंपनी ने इन आरोपों को नकारा था।

Related posts

दुनिया भर में एरिस वैरिएंट के बढ़ रहे मामले

admin

कोरेक्स समेत करीब 347 फिक्स डोज कांबिनेशन ड्रग्ज को किया प्रतिबंधित

Ashutosh Kumar Singh

कोरोना की रफ्तार ने डराया, रोज बढ़ रहे केस

admin

Leave a Comment