स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

बिलासपुर सिम्स में राजनीतिक शास्त्र का छात्र बांट रहा है दवाइयां…

Ashutosh Kumar Singh For SBA
विडियो लिंकःबिलासपुर सिम्स में राजनीतिक शास्त्र का जानकार दवाइयां बांट रहा हैं…

सिम्स के प्रांगण में अवस्थित रेडक्रास मेडिकल शॉप जहां आज भी  फार्मासिस्ट दवाइयां नहीं बांट रहा है...
सिम्स के प्रांगण में अवस्थित रेडक्रास मेडिकल शॉप जहां आज भी फार्मासिस्ट दवाइयां नहीं बांट रहा है…

बिलासपुर से हमारी टीम ने यह विडियो फूटेज भेजा है। जिसमें स्पष्ट रूप से दिख रहा है कि सिम्स प्रांगण में रेड क्रास की मदद से चलने वाले दवा दुकान पर जो दवा दे रहा है, वह फार्मासिस्ट नहीं है। लक्ष्मी नारायण मिश्रा नाम बताने वाला यह शख्स बता रहा है कि वो यहां पर पिछले सात-आठ वर्षों से दवा बांट रहा है…जब ठेकेदारी से दवा वितरण होगा तो बिलासपुर जैसी घटना को रोकना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है…राजनीतिक शास्त्र में पोस्ट ग्रैजुएट करने वाला लड़का दवा बांट रहा है…सरेआम दवा कानूनों धज्जिया उड़ाई जा रही है। हमारे टीम के सदस्य व आरटीआई एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने जब पूछा की सीनियर कौन है तो इस शख्स का जवाब था, डॉ. सौरभ शुक्ला को-आर्डिनेटर हैं…
विनय कुमार भारती से फोनिक चर्चा अभी हुई है, उनका कहना है कि, अभी यहाँ पंहुचा हूँ ! साथ मैं छत्तीसगढ़ युथ फार्मासिस्ट एसोसिएशन बिलासपुर की टीम है ! पहुँचते ही सबसे पहले हॉस्पिटल के फार्मेसी में अपनी टीम के साथ हालात का जायजा ले रहा था ! दवा बाँट रहा सख्स लक्ष्मी नारायण मिश्रा ने खुद को पोलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेजुएट बताया ! बड़ी आसानी से इस शख्स ने बताया की पिछले आठ साल से धड़ल्ले से दवा बाँट रहा है ! बिलासपुर, छत्तीसगढ़ का सबसे बड़े अस्पताल का ये हाल है ! जहाँ एक मात्र दवा बितरण केंद्र में पोलिटिकल साइंस के लोग दवाइयाँ बाँट रहे है ! तो पेंडारी जैसे हादसे होना कोई नई बात नहीं ! गौरतलब है कि इस राज्य में 12000 फार्मासिस्ट हैं, जिनमें महज 235 को ही सरकारी नौकरी मिली है।

Related posts

New option emerges for treatment of inflammatory diseases

सिटी ऑफ सन सूरत में यात्रा दल का जोरदार स्वागत

Ashutosh Kumar Singh

वैज्ञानिकों ने बनाया चलता-फिरता सौरकोल्ड स्टोरेज

Leave a Comment