स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

सूरत में इस्पात स्लैग से निर्मित छह लेन वाला एनएच चालू

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। केंद्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह ने गुजरात के सूरत में शहर के साथ पत्तन को जोड़ने के लिए इस्पात स्लैग (धातु की तलछट या मैल) के उपयोग से निर्मित पहली छह लेन वाली राजमार्ग सड़क का उद्घाटन किया। इस अवसर पर मंत्री ने सभी अपशिष्ट को संपत्ति में परिवर्तित करके सर्कुलर (चक्रीय) अर्थव्यवस्था और संसाधन दक्षता को बढ़ावा देने की जरूरत पर जोर दिया।

लागत में कमी आयेगी

उन्होंने चक्रीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने की जरूरत का विशेष उल्लेख किया क्योंकि विश्व में सभी प्रकार के प्राकृतिक संसाधनों की कमी हो रही है। इस्पात प्रसंस्करित स्लैग के 100 फीसद उपयोग से निर्मित सड़क अपशिष्ट को संपत्ति में बदलने और इस्पात संयंत्रों की स्थिरता में सुधार का एक वास्तविक उदाहरण है। मंत्री ने आगे कहा कि सड़क निर्माण में ऐसी सामग्री के उपयोग से न केवल टिकाऊपन बढ़ेगा, बल्कि निर्माण की लागत को कम करने में भी सहायता मिलेगी क्योंकि स्लैग आधारित सामग्री में प्राकृतिक घटकों की तुलना में बेहतर विशेषताएं होती हैं। उन्होंने कहा कि इससे प्राप्त अनुभव का उपयोग सड़क निर्माण में इस्पात स्लैग के व्यापक इस्तेमाल के लिए विस्तृत दिशानिर्देश विकसित करने में किया जाएगा।

2030 तक बढ़ेगा स्लैग का उत्पादन

इस्पात मंत्री ने आगे कहा कि उनका मंत्रालय सड़क निर्माण, कृषि में मिट्टी के पोषक तत्वों व उर्वरकों के प्रतिस्थापन, रेलवे के लिए गिट्टी (रोड़ा) और हरित सीमेंट बनाने के लिए ऐसी सामग्री का उपयोग करने को लेकर अन्य सभी विकल्पों की तलाश कर रहा है। देश में विभिन्न प्रक्रियागत साधनों से इस्पात स्लैग का उत्पादन अभी से 2030 तक बढ़ने की संभावना है, इसे देखते हुए सड़क निर्माण में इस्पात स्लैग का उपयोग से देश में प्राकृतिक घटकों की कमी दूर हो सकेगी।

Related posts

आईआईटी गाँधीनगर को मिला सुपरकम्प्यूटर ‘परम अनंत’

admin

गुरदासपुर मामलाः डॉक्टरों ने छिनी 16 मरीजों की  ऑखों की रौशनी!

Ashutosh Kumar Singh

पशुओं के लिए भी जांच किट और वैक्सीन लांच

admin

Leave a Comment