स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

स्थापना दिवस पर तीन संस्थानों को मिलेगा उत्कृष्टता सम्मान

  • स्वस्थ भारत (न्यास) का सातवां स्थापना दिवस 7-8 को
  • स्थापना दिवस पर तीन संस्थानों को मिलेगा उत्कृष्टता सम्मान
  • स्थापना दिवस पर तीन संस्थानों को मिलेगा उत्कृष्टता सम्मान
  • 26 लोगों को स्वस्थ भारत सारथी और 12 लोगों को स्वस्थ भारत यात्री सम्मान से किया जाएगा सम्मानित
  • दिल्ली-एनसीआर स्थित मेवाड़ इंस्टिट्यूट में आयोजित स्वास्थ्य अमृत मंथन शिविर में दिया जाएगा सम्मान
  • स्थापना दिवस पर तीन संस्थानों को मिलेगा उत्कृष्टता सम्मान
  • देश भर के स्वास्थ्य विशेषज्ञ कोविड काल में भारत के स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र की भूमिका विषय पर करेंगे विचार-मंथन

नई दिल्ली/जियाबाद (स्वस्थ भारत मीडिया)। स्वास्थ्य के क्षेत्र में एडवोकेसी का काम कर रही संस्था स्वस्थ भारत (न्यास) आगामी 7-8 मई को अपना सातवां स्थापना दिवस मनाने जा रही है। इस अवसर पर ‘स्वस्थ भारत के निर्माण में भारतीय स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र की भूमिका विशेष संदर्भ कोविड-काल’ विषयक दो दिवसीय राष्ट्रीय स्वास्थ्य चिंतन शिविर का आयोजन किया जा रहा है।

सुशीला नायर स्वस्थ भारत उत्कृष्टता सम्मान

इस अवसर पर स्वस्थ भारत (न्यास) ने देश की दूसरी महिला स्वास्थ्य मंत्री सुशीला नायर के नाम पर सुशीला नायर स्वस्थ भारत उत्कृष्टता सम्मान दिए जाने की घोषणा की है। इस वर्ष यह सम्मान देश के निम्न तीन उत्कृष्ट स्वास्थ्य संस्थानों को दिया जा रहा है।
1. कर्नाटक हेल्थ इंस्टीट्यूट, बेलगाम कर्नाटक
2 कस्तूरबा हेल्थ सोसायटी, वर्धा, महाराष्ट्र
3. विराट हॉस्पिस, जबलपुर, मध्यप्रदेश

स्वस्थ भारत यात्री सम्मान

 

इस अवसर पर न्यास की ओर से आयोजित स्वस्थ भारत यात्रा में शामिल रहे यात्रियों को स्वस्थ भारत यात्री सम्मान से सम्मानित किया जाएगा जिनके नाम हैं-1. श्री प्रसून लतांत, दिल्ली, 2. डॉ. सोम शेखर, उत्तराखंड, 3. श्री कुमार कृष्णन, बिहार, 4. श्रीमती प्रियंका, बिहार, 5. श्री संतोष कुमार सिंह, दिल्ली, 6. श्री शंभू कुमार, झारखंड, 7. श्री विनोद रोहिल्ला, हरियाणा, 8. श्री पवन कुमार, हरियाणा, 9. श्री धर्मेन्द्र उपाध्याय, बिहार, 10. श्री विवेक कुमार शर्मा, उत्तर प्रदेश, 11. श्री आशुतोष कुमार सिंह, बिहार, 12. स्व. अशोक प्रियदर्शी (मरणोपरांत), दिल्ली।

 

स्वस्थ भारत सारथी सम्मान

 

साथ ही स्वस्थ भारत के विचार को लोगों तक पहुंचाने के लिए देश भर के 26 स्वास्थ्य-सेवकों को स्वस्थ भारत सारथी सम्मान भी दिया जाएगा। उनके नाम निम्नवत है 1. श्री देबाशीष मजूमदार, त्रिपुरा, 2. श्री केशव आचार्य, चेन्नई, 3. श्रीमती अल्का अग्रवाल सिगतिया, मुंबई, 4. श्री विनित कुमार झा, जबलपुर, 5. श्री पंकज पाठक, रांची, 6. श्री संदीप पांडेय, पटना, 7. श्री अभिषेक कुमार (दिल्ली), 8. डॉ. एन.के.आनंद, बिहार, 9. डॉ. गणेश राख, पुणे, 10. श्री बी.एन.शिन्दे, कर्नाटक, 11. श्री अतुल मोहन सिंह, लखनऊ, 12. श्री सरोज सुमन, मुंबई, 13. श्री अमित त्यागी, उत्तर प्रदेश, 14. श्री देवेन्द्र माधोपुर, राजस्थान, 15. श्री सचिन अरोड़ा, कपूरथल्ला, पंजाब, 16. श्री अमित कुमार, दिल्ली, 17. श्री शिवकरण मील, राजस्थान, 18. श्री रिजवान रजा, दिल्ली, 19. श्री नलिनी रंजन, दिल्ली, 20. डॉ. विवेक अग्रवाल, कोलकाता, 21. श्री मणिशंकर, दिल्ली, 22. श्री समर मंडलोई, इंदौर, 23. श्री संजीव कुमार, दिल्ली, 24. श्री संजय बेंगाणी, गुजरात, 25. पंचदेव शुक्ल (दिल्ली), 26.पुष्कर शर्मा (नोएडा, यूपी)।

चिंतन शिविर में महत्वपूर्ण विमर्श

दो दिन तक चलने वाले इस स्वास्थ्य अमृत चिंतन शिविर के अलग-अलग सत्रों में देश के विभिन्न कोनों से विशिष्ट वक्ता आ रहे हैं। उद्घाटन सत्र में जहां एस्ट्रो गुरु पवन सिन्हा जी, पद्मश्री मालिनी अवस्थी जी का सानिध्य मिलेगा वही समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह में पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति के उपाध्यक्ष विजय गोयल, राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के संयुक्त निदेशक डॉ. जे. एल. मीणा, पद्मश्री रामबहादुर राय जी का सानिध्य प्राप्त होगा। प्रथम दिन जहां एक ओर स्वस्थ भारत के निर्माण में आयुष की भूमिका, सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज की प्रगति, मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति, पोषण की जरूरत, जनऔषधि की भूमिका विषयक चर्चा होगी। साथ ही शाम को रंगा-रंग कार्यक्रम में प्रसिद्ध लोकगायिका सीमा तिवारी, वरिष्ठ शास्त्रीय गायिका सुमिता दत्ता, बॉलीवुड गायक-अभिनेता अमरेन्द्र शर्मा, प्रसिद्ध संगीतकार एवं गायकर सरोज सुमन, मशहूर हास्य कवि दीपक सैनी, अंतराष्ट्रीय कथक नृत्यांगना अनु सिन्हा, उभरती लोक गायिका अनु श्री एवं अदिति के भरत-नाट्यम की प्रस्तुति होगी। इस सत्र में प्रसिद्ध लोकगायिका विजया भारती जी का विशेष सानिध्य भी प्राप्त होगा। दूसरे दिन स्वस्थ भारत के निर्माण में मीडिया एवं गैर-सरकारी संगठनों की भूमिका विषय पर चर्चा करने के बाद अंत में गांधी के स्वास्थ्य चिंतन विषय पर गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति के निदेशक दीपांकर श्री ज्ञान का विशेष उद्बोधन होगा।

न्यास की पृष्ठभूमि

गौरतलब है कि स्वस्थ भारत (न्यास) अपने स्थापना काल से ही भारत में स्वास्थ्य जागरूकता का ध्वजवाहक बना हुआ है। देश के आम जन को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए विविध प्रकार के आयोजन संस्था करती रही है। अब तक दो बार अलग-अलग विषयों को लेकर पूरे भारत में 42,000 कि.मी. की यात्रा स्वस्थ भारत (न्यास) के यात्रियों ने किया है। पहली यात्रा ‘स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज’ विषय पर थी जबकि दूसरी यात्रा का विषय ‘स्वस्थ भारत के तीन आयामः जनऔषधि, पोषण और आयुष्मान’ था। इसी संदर्भ को आगे बढ़ाते हुए भारत के स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र के सात आयामों पर सात सत्रों में विषय विशेषज्ञों का व्याख्यान होगा।

Related posts

डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिक्स के लिए NELS पाठ्यक्रम

admin

NGT में कोरोना काल मे गंगा में मिले शवों का मामला उठा

admin

कोरेक्स समेत करीब 347 फिक्स डोज कांबिनेशन ड्रग्ज को किया प्रतिबंधित

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment