स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

8 साल में सरकारी मेडिकल कॉलेजों की संख्या में 96 % की वृद्धि : मांडविया

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने कहा कि पिछले आठ वर्षों में MBBS सीटों में 87 प्रतिशत और पीजी सीटों में 105 प्रतिशत की भारी वृद्धि हुई है। मीडिया से बातचीत में उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में आमूल-चूल परिवर्तन लाने की दिशा में सरकार की प्रतिबद्धता को दोहराया। उन्होंने दावा किया कि 2014 के बाद से युवा पीढ़ी की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच को आसान बनाने के लिए अनेक कदम उठाए गए हैं।

आज भारत में 648 मेडिकल कॉलेज

उन्होंने चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर बदलाव की जानकारी देते हुए कहा कि भारत में 2014 में सीमित संख्या में 387 मेडिकल कॉलेज थे, सिस्टम बहुत अधिक समस्याओं से भरा हुआ था। अब 2022 में 648 मेडिकल कॉलेज हैं, जिसमें 2014 से अकेले सरकारी मेडिकल कॉलेजों (GMC) की संख्या में 96 प्रतिशत और निजी क्षेत्र में 42 प्रतिशत की भारी वृद्धि हुई है। वर्तमान में देश के 648 मेडिकल कॉलेजों 355 सरकारी और 293 निजी हैं। MBBS सीटों में 87 प्रतिशत की भारी वृद्धि देखी गई है जो 2014 के 51,348 से बढ़कर 2022 में 96,077 हो गईं। इसी तरह पीजी सीटों में 105 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई जो 2014 में 31,185 सीटों से बढ़कर 2022 में 63,842 हो गई हैं।

MBBS में सीटें बढ़ीं

उन्होंने कहा कि सरकारी मेडिकल कॉलेजों में MBBS की 10,000 सीटें करने की दृष्टि से 16 राज्यों के 58 कॉलेजों को MBBS की 3,877 सीटें बढ़ाने की मंजूरी दी गई है। इसी प्रकार 21 राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों को 72 मेडिकल कॉलेजों में पहले चरण में पीजी की 4,058 सीटें बढ़ाने की मंजूरी दी गई है।

22 नये AIIMS पर काम जारी

मंत्री ने बताया कि सस्ती और विश्वसनीय स्वास्थ्य सेवा के लिए प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (PMSSY) शुरू की गई थी। इसका लक्ष्य एम्स जैसे संस्थानों की स्थापना और मौजूदा GMC (सुपर-स्पेशियलिटी ब्लॉकों की स्थापना करके) का चरणबद्ध तरीके से आधुनिकीकरण करना है। योजना के तहत 22 नए एम्स और 75 सरकारी मेडिकल कॉलेजों के आधुनिकीकरण की परियोजनाओं को हाथ में लिया गया।

Related posts

अस्पताल के sensetive zone में मोबाइल लेकर जाने पर रोक

admin

Surprise : 23 दिन की बच्ची के पेट से निकले 8 भ्रूण

admin

गोवा में 9वीं विश्व आयुर्वेद कांग्रेस और आरोग्य एक्सपो दिसंबर में

admin

Leave a Comment