स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

स्वास्थ्य सेवाओं को सशक्त करने में ABHA आईडी की महती भूमिका

एमपी के उप मुख्यमंत्री ने बनवाया स्वयं का ABHA ID

भोपाल (स्वस्थ भारत मीडिया)। एमपी के उप मुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल ने कहा है कि आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट (आभा) डिजिटल हेल्थ आईडी स्वास्थ्य सेवाओं के प्रदाय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इससे मरीज़ों को विशेषीकृत स्वास्थ्य सेवाओं में सुविधा होगी। साथ ही आपातकाल में मरीज़ की स्वास्थ्य जानकारी सहजता से उपलब्ध होने पर चिकित्सकीय निर्णय त्वरित रूप से लिए जा सकेंगे। उन्होंने मंत्रालय में स्वयं का आभा आईडी बनाया। उन्होंने नागरिकों से भी आभा आईडी बनवाने की अपील की है।

मुफ्त में बनेगी ABHA आईडी

मरीजों को अपने चिकित्सकीय उपचार की जानकारी समग्र रूप से उपलब्ध करवाए जाने के लिए विशिष्ट स्वास्थ्य आईडी आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट (ABHA) सभी शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में प्रतिदिन बनाई जा रही है। आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत बनाई जा रही इस आईडी से मरीज को दिए गए उपचार के सभी विवरण प्राप्त होंगे। यह शासकीय चिकित्सालयों में निःशुल्क बनाई जाती है। इसके लिए अपना आधार कार्ड एवं आधार से लिंक मोबाइल नंबर लाना आवश्यक है। इसे ऐप के माध्यम से स्वयं भी बनाया जा सकता है।

डिजिटल स्वास्थ्य को मिलेगा बढ़ावा

मालूम हो कि आभा आईडी 14 अंकों का यूनिक नंबर है जिसके माध्यम से मरीज अपनी पैथोलॉजी रिपोर्ट, प्रिस्क्रिप्शन और उपचार डिजिटल रूप से प्राप्त कर कर सकते हैं। एक प्रकार से यह आईडी मरीज का डिजिटल हेल्थ रिकॉर्ड है जिससे बेहतर उपचार की सेवाएं मरीज को प्राप्त हो सकेंगी। आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन, भारत सरकार की एक फ्लैगशिप योजना है। इसका उद्देश्य देश में डिजिटल स्वास्थ्य को बढ़ावा देना है। इसके माध्यम से मेडिकल रिकॉर्ड को सुरक्षित रूप से स्टोर और एक्सेस करने की सुविधा मिल सकेगी। इससे मेडिकल क्लेम से लेकर डेटा विश्लेषण के माध्यम से स्वास्थ्य सेवाओं को उन्नत करने में भी सहायता मिलेगी।

Related posts

‘स्वाधीन भारत में सांस्कृतिक पुनरुत्थान के आयाम’ पर राष्ट्रीय संगोष्ठी

admin

कोविड-19 के खिलाफ रक्त प्लाज्मा थेरैपी की संभावना तलाशता भारत

Ashutosh Kumar Singh

जनऔषधि में नए उत्पाद और न्यूट्रास्यूटिकल्स भी शामिल

admin

Leave a Comment