स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

दिल्ली के यमुना घाट पर वृक्षारोपण, रोपे गए 75 पौधे

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन द्वारा 2 जुलाई को दिल्ली में यमुना नदी के कालिंदी कुंज घाट पर आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत नमामि गंगे अमृत वाटिका बनाई गई। इस दौरान यमुना घाट पर वृक्षारोपण पहल के अंतर्गत दिल्ली जल बोर्ड, विभिन्न एनजीओ एवं अन्य संबद्ध संगठन के सहयोग से राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन द्वारा 75 पौधे लगाने के साथ वृक्षारोपण से जुड़ी गतिविधियों का आयोजन किया गया।

स्कूली बच्चे भी हुए शामिल

कार्यक्रम में NMCG के महानिदेशक जी. अशोक कुमार, कार्यकारी निदेशक (तकनीकी) डीपी मथुरिया, NMCG के अधिकारी, DJB के अधिकारी, स्वयंसेवक, स्कूलों के बच्चों समेत विभिन्न संगठनों से जुडे लोग शामिल हुए। कार्यक्रम के दौरान पर्यावरण एवं नदियों के विषय पर रंग सारथी संस्थान के युवाओं द्वारा नुक्कड नाटक का आयोजन भी किया गया। कार्यक्रम में आदर्श ज्ञान वाटिका के स्कूली बच्चों ने भी भाग लिया, जिन्हें अपने माता-पिता को घर में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने के लिए मनाने के लिए सूती बैग भी दिए गए। कार्यक्रम में भाग लेने वाले एनजीओ में YSS, SYA और ट्री क्रेज फाउंडेशन शामिल थे।

यमुना की सफाई प्राथमिकता

NMCG के महानिदेशक ने अर्थ गंगा की अवधारणा पर अपनी बात रखी। उन्होंने बताया कि इसका उद्देश्य नमामि गंगे द्वारा शुरू की गई परियोजनाओं की स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए एक माध्यम के रूप में नदी और लोगों के बीच संपर्क स्थापित करना है। उन्होंने कहा कि गंगा नदी की सहायक नदियों, विशेष रूप से यमुना की सफाई नमामि गंगे कार्यक्रम के पहली प्राथमिकताओं में से एक है। उन्होंने बताया कि कोरोनेशन पिलर पर 318 एमएलडी एसटीपी पहले ही चालू किया जा चुका है जबकि एनएमसीजी द्वारा वित्त पोषित यमुना पर 3 अन्य मुख्य एसटीपी हैं, जिन्हें दिसंबर 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसमें रिठाला, कोंडली और ओखला शामिल हैं।

Related posts

और अब वैज्ञानिकों ने संभाली जागरूकता की कमान

Ashutosh Kumar Singh

ताकि जेनरिक दवाइयों के नाम पर लूट बंद हो…

admin

देह, चित्त और आत्मा का स्वास्थ्य है योग : प्रो. शुक्ल

admin

Leave a Comment