स्वस्थ भारत मीडिया
फ्रंट लाइन लेख / Front Line Article

तौबा करें गुस्से से वरना हार्ट की बीमारी और स्ट्रोक का खतरा

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। अक्सर लोग बेवजह गुस्सा करते हैं लेकिन हेल्थ के नजरिये से यह घातक है। एक स्टडी बताती है कि जो लोग ज्यादा गुस्सा करते हैं उनको हार्ट की बीमारियों और स्ट्रोक का जोखिम अधिक होता है।

280 युवाओं को लेकर परीक्षण

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित स्टडी के अनुसार थोड़े समय के लिए गुस्सा करना व्यक्ति के लिए हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम को बढ़ा सकता है। इस स्टडी में 26 साल के करीब 280 युवाओं को शामिल किया गया था। इसमें हर युवा को क्रोध, चिंता, उदासी व न्यूट्रेलिटी (समभाव) का एक-एक टास्क दिया गया। विशेषज्ञों की टीम ने टास्क से पहले और बाद के बदलावों को मापा तो पाया कि जिन लोगों ने गुस्से का टास्क चुना था, उनकी नसों के फैलाव और सेलुलर फंक्शन में बदलाव आया है। गुस्सा करने वाले लोगों की नसों का फैलाव करीब 40 मिनट तक कम हो सकता है। नसों के संकुचन से व्यक्ति में हाई ब्लड प्रेशर, हृदय संबंधी रोग और स्ट्रोक जैसी समस्याएं हो सकती है।

ऐसे रोकें गुस्सा

एक्सपर्ट बताते हैं कि गुस्से पर काबू भी पाया जा सकता है। उनकी नजर में इसके लिए कई उपाय हैं जैसे मेडिटेशन। नियमित रूप से मेडिटेशन का अभ्यास करना होगा। इससे दिमाग शांत रहेगा। वॉक पर भी जाना चाहिए। जगह की स्थिति में बदलाव से विचारों में बदलाव होता है जो किसी को नॉर्मल अवस्था में ले आयेगा। दिमाग और शरीर, दोनों शांत रहेगा। कुछ योगासन को आजमाया जा सकता है। लाइफस्टाइल और डाइट में आवश्यक बदलाव भी करना होगा। जंक और प्रोसेस्ड फूड से दूरी बनानी होगी और पौष्टिक एवं संतुलित आहार लेना होगा।

Related posts

आयुष को आधुनिक चिकित्सा के साथ जोड़ने के सुखद नतीजे मिले : वैद्य कोटेचा

admin

स्वस्थ भारत यात्रियों का आंध्रप्रदेश में प्रवेश

Ashutosh Kumar Singh

सर्वाइकल कैंसर से मौत और भारत

admin

Leave a Comment