स्वस्थ भारत मीडिया
कोविड-19 / COVID-19 समाचार / News

कोरोना की मार से बेहाल बिहार का क्या होगा?

बिहार में स्वास्थ्य विभाग की लाचारी से ही मरीजों की संख्या बढ़ रही है। एहतियात के तौर पर मुंगेर, गया, पटना, बेगूसराय, सीवान की सीमा सील कर दी गई है। ऐसे में लोग स्वयं जागरूक होकर सावधानी नहीं बरतेंगे तो सूबे में बड़ी तबाही तय है।

पटना/ 10 मार्च/ अजय वर्मा
कोरोना वायरस के कहर से देश भर में मरीजों और संदिग्धों की संख्या बढती जा रही है। हिंदी पट्टी वाले राज्यों में यूपी के बाद बिहार और झारखंड की स्थिति चिंता करने वाली बन रही है। यही वजह है कि जहां यूपी के 15 जिलों में हॉटस्पॉट की पहचान कर करफ्यू जैसी सख्ती से कर दी गई है, वहीं बिहार में भी नवादा, सीवान और बेगूसराय जिले हॉटस्पॉट बनते जा रहे हैं। इन जिलों में सख्ती के लिए अब बीएमपी के जवान तैनात किए जा रहे हैं। अभी तक बिहार में 51, झारखंड में 9, मध्यप्रदेश में 259 एवं उत्तर प्रदेश में 410 मरीज संक्रमित हो चुके हैं। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को सबसे ज्यादा चिंता बिहार को लेकर है। क्योंकि बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था बहुत ही लचर है। यहां की सरकार भी बहुत देर से जगी है।
बिहार का बुरा हाल, एक ही परिवार के 20 लोग हुए संक्रमित
बिहार में कोरोना से पहली मौत दूसरे देश से लौटे मुंगेर के एक व्यक्ति की हुई थी। 9 अप्रैल शाम तक यहां सात मरीज पॉजिटिव मिले। सरकारी बयानों के मुताबिक पटना और गया में 5—5, गोपालगंज में तीन मरीज मिले हैं। सबसे बुरी हालत सीवान की हो गई है जहां दस मरीज मिले। इनमें 9 तो एक ही परिवार के हैं। इस परिवार का एक सदस्य 21 मार्च को विेदेश से लौटा। पटना एयरपोर्ट पर क्वारंटीन की मुहर भी लगी लेकिन न उसकी निगरानी हुई, न परिवार ने एहतियात बरती। अब इससे उस परिवार के बाकी 8 सदस्य भी संक्रमित हो गये। खबरों में बताया जा रहा है कि सीवान जिला के पंजुवार गांव हॉट स्पॉट बना हुआ है। इस गांव के तीन किमी के एरिया को सील कर दिया गया है। इस गांव के एक परिवार के 20 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए  हैंं।
बिहार सरकार की लापरवाही
बिहार में स्वास्थ्य विभाग की लाचारी से ही मरीजों की संख्या बढ़ रही है। एहतियात के तौर पर मुंगेर, गया, पटना, बेगूसराय, सीवान की सीमा सील कर दी गई है। ऐसे में लोग स्वयं जागरूक होकर सावधानी नहीं बरतेंगे तो सूबे में बड़ी तबाही तय है।

Related posts

कोविड-19 संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील किडनी रोगी

Ashutosh Kumar Singh

जीनोम टेस्टिंग और सर्विलांस से काबू करें बीमारी को

admin

नहीं रहे ORS के जनक डॉ. दिलीप महलानवीस

admin

Leave a Comment