स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

5 अक्तूबर को मनेगा डाॅल्फिन दिवस

नई दिल्ली। वन्यजीवों को संरक्षित करते हुए प्रतीक रूप में उनके नाम पर दिवस भी मनाया जाता है। पहली बार जलजीव डाॅल्फिन को संरक्षित करने के लिए भी सरकार ने दिवस मनाने की घोषणा की है।

5 अक्तूबर को मनेगा डाॅल्फिन दिवस

जनकारी के मुताबिक पर्यावरण मंत्रालय ने घोषणा की है कि प्रजातियों के संरक्षण अभियान के तहत और जागरूकता पैदा करने के लिए इस साल से पांच अक्तूबर को ‘राष्ट्रीय डॉल्फिन दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने ट्विटर पर इसकी घोषणा की।

डाॅल्फिन को संरक्षण

राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड की स्थायी समिति ने अपनी 67वीं बैठक में निर्णय लिया है कि इस वर्ष से पांच अक्तूबर को ‘राष्ट्रीय डॉल्फिन दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा। जागरूकता उत्पन्न करना और सामुदायिक भागीदारी इस प्रजाति के संरक्षण के लिए अभिन्न अंग है। मालूम हो कि भारत में ज्यादातर गांगेय डॉल्फिन है। डॉल्फिन मीठे पानी की एक प्रजाति है और यह असम, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में लंबी गहरी नदी में देखी जाती है। गंगा नदी की डॉल्फिन को 2010 में राष्ट्रीय जलीय प्रजाति घोषित किया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगस्त 2020 में मीठे पानी और समुद्री डॉल्फिन दोनों के संरक्षण के लिए ‘प्रोजेक्ट डॉल्फिन’ की घोषणा की थी। सरकारी आंकड़ों के अनुसार भारत में गांगेय डॉल्फिन की संख्या 3,700 है।

Related posts

दवाइयों की गुणवत्ता पर है विशेष नज़रःडॉ. हर्षवर्धन

Ashutosh Kumar Singh

केईएम अस्पताल के एक और डॉक्टर को हुआ डेंगू

Ashutosh Kumar Singh

फार्मेसी काउंसिल ऑफ़ इंडिया के नियमों की अनदेखी कर रही सरकार

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment