स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

Brain Stroke से भारत में हर साल 1.85 लाख मौतें

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। सबसे घातक जानलेवा रोग की बात करें तो दूसरे नंबर पर ब्रेन स्ट्रोक का स्थान आता है क्योंकि देश में हर 40 सेकंड में एक व्यक्ति इसका शिकार बनता है तथा हर चार मिनट में एक व्यक्ति दम तोड़ देता है। यह कहना है Aiims, दिल्ली में न्यूरोलॉजी विभाग की प्रोफेसर डॉ. एम.वी. पद्मा श्रीवास्तव का।

भारत के लिए चिंता की बात

मीडिया की खबर के अनुसार स्ट्रोक केयर और भारत में एक गरीब इलाको में स्ट्रोक संसाधनों की कमी पर उन्होंने कहा कि भारत में हर साल करीब एक लाख 85 हजार ब्रेन स्ट्रोक के मामले सामने आते हैं। ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज (GBD) के अनुसार भारत पर स्ट्रोक की 68.6 प्रतिशत घटनाओं के साथ स्ट्रोक का अधिकांश बोझ है, 70.9 प्रतिशत स्ट्रोक से मौत और 77.7 प्रतिशत स्ट्रोक से विकलांगता होती है। ये आंकड़े भारत के लिए चिंताजनक हैं। जीबीडी 2010 स्ट्रोक प्रोजेक्ट के अनुसार 52 लाख (31 प्रतिशत) स्ट्रोक 20 वर्ष से कम आयु के बच्चों में होते हैं। भारत में स्ट्रोक का बोझ अधिक है और युवा और मध्यम आयु वर्ग के लोगों के बीच सबसे अधिक है।

तकनीक से उपचार संभव

उन्होंने कहा कि दूरदराज के क्षेत्रों में इसके उपचार की पर्याप्त सुविधाएं नहीं हैं। सरकारी अस्पतालों का भी ऐसा ही हाल है। स्ट्रोक के इलाज में कमी को दूर करने का आसान तरीका तकनीक है। हम टेली स्ट्रोक व टेलीमेडिसिन को अपनाकर स्ट्रोक केयर कर सकते हैं। इसकी मदद से देश के दूर दराज व गरीब क्षेत्रों को जोड़ा जा सकता है।

Related posts

कोरोना से मौत मामले में मुआवजा के लिए समय सीमा निर्धारित

admin

अमेरिका, नेपाल तक फैली चीन की रहस्यमय बीमारी

admin

शहीदी दिवस 30 जनवरी से शुरू हुई स्वस्थ भारत यात्रा-2

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment