स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

H3N2 इन्फ्लूएंजा के बढ़ते मामलों पर केंद्र सक्रिय

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। कोविड की तरह फैल रहे H3N2 इन्फ्लूएंजा से मौतों की सूचना पर केंद्र ने अलर्ट करते हुए बैठक की। स्थिति पर विचार के लिए नीति आयोग की बैठक 11 मार्च को हो रही है। अब तक हरियाणा और कर्नाटक में इससे एक-एक मरीजों की मौत हुई है जबकि देश में इसके 90 केस मिले हैं।

मौत के बाद संक्रमण का पता चला

जानकारी के अनुसार कर्नाटक में जिसकी मौत हुई, उसकी उम्र्र 82 साल थी। वह डायबिटीज और हाइपरटेंशन का मरीज था। जांच के दौरान उनका सैंपल लिया गया था। उसका निधन 1 मार्च को ही हुआ था लेकिन रिपोर्ट 6 मार्च को आई और पता चला कि वह H3N2 से संक्रमित था। इसी तरह हरियाणा के जींद में जिसकी मौत हुई वह रहने वाला था।

मास्क है फिर जरूरी

हाल ही एम्स के पूर्व निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने H3N2 इन्फ्लूएंजा से लोगों को सावधान रहने की अपील की थी। उन्होंने कहा कि यह कोरोना के जैसे ही फैलता है। इससे बचने के लिए मास्क पहनें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और बार-बार हाथ धोते रहें। बुजुर्गों और पहले से ही किसी बीमारी से परेशान लोगों को इससे ज्यादा परेशानी हो सकती है। उनके मुताबिक मार्च के अंत तक इस वायरस का प्रकोप खत्म हो जायेगा।

राजस्थान-बंगाल में बढ़े केस

राज्यों की बात करें तो राजस्थान और बंगाल में इसके कई केस सामने आ रहे हैं। इसकी चपेट में सबसे ज्यादा बच्चे हैं। इन्हें ठीक होने में 10 से 12 दिन का समय लग रहा है। बच्चों को आईसीयू तक में भर्ती करना पड़ रहा है। एसएमएस मेडिकल कॉलेज, जयपुर के ओपीडी में हर तीसरा-चौथा मरीज तेज खांसी-बुखार की शिकायत लेकर आ रहा है। इसमें अधिक मामले H3N2 के अलावा अपर रेस्पिरेटरी इंफेक्शन, एडिनोवायरस, पैरा इन्फ्लूएंजा वायरस के हैं। ये वायरस मौसम में बदलाव के साथ एक्टिव होता है और तेजी से फैलता है।

Oseltamivir लेने की सलाह

इसके लिए WHO ने Oseltamivir दवा की अनुशंसा की है। यह दवा सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली के माध्यम से निःशुल्क उपलब्ध कराई जाती है। सरकार ने फरवरी 2017 में Oseltamivir की व्यापक पहुंच और उपलब्धता के लिए दवा और कॉस्मेटिक अधिनियम की अनुसूची एच1 के तहत इसकी बिक्री की अनुमति दी है। राज्यों के पास पर्याप्त लॉजिस्टिक्स उपलब्ध है।

Related posts

अच्छे डॉक्टर मिल जाए तो जिंदगी बदल जाती है…ऐसी ही यह कहानी हैं…देखें चार मिनट में…

Ashutosh Kumar Singh

लखनऊ में भी होगा कैंसर की दवा का ट्रायल

admin

अवैध दवा दुकानों का पता लगायेंगे मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव

Vinay Kumar Bharti

Leave a Comment