स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में हुआ नेत्रदान

पटना (स्वस्थ भारत मीडिया)। दधीचि देहदान समिति के जागरूकता अभियान के फलस्वरूप भागवत नगर, पटना की 74 वर्षीया स्मृतिशेष मोहनी देवी के निधन के बाद परिवार ने नेत्रदान कराकर पीड़ित मानवता की सेवा में एक मिसाल कायम किया है। उनके सुपुत्र दीपक अग्रवाल सहित पूरे परिवार की सहमति एवं समिति के वरीय सदस्य मुकेश हिसारिया व समाजसेवी कन्हैया अग्रवाल की पहल से नालंदा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (NMCH) के नेत्र अधिकोष की टीम को कॉर्निया सौप पीड़ित मानवता की सेवा कर समाज को एक ऐसा संदेश दिया है जो आने वाली पीढ़ी के लिए प्रेरक होगा।

पुत्र का भी हुआ था नेत्रदान

मृत्यु तो निश्चित है परन्तु मृत्यु के पश्चात भी अमर होने का श्रेष्ट तरीका नेत्रदान है। एक माह पूर्व इनके पुत्र 49 वर्षीय घनश्याम अग्रवाल का भी नेत्रदान हुआ था। नालंदा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (NMCH) के नेत्र विभागाध्यक्ष डॉ. प्रदीप कारक के निर्देश पर नेत्र अधिकोष की टीम में शामिल डॉ. ज्योति, डॉ. प्रियंका शर्मा, प्रियंका, लवकुश एवं संजीव कुमार ने कॉर्निया लेने की प्रक्रिया को पूरा किया। समिति नेत्र अधिकोष के सभी पदाधिकारियों को इस नेक कार्य के लिए धन्यवाद ज्ञापित करती है। दधीचि देहदान समिति, बिहार ने दिवंगत आत्मा की सदगति के लिए विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की है।

मानवता की सेवा में दें योगदान

समिति के महामंत्री पद्मश्री विमल जैन ने जागरूक नागरिकों से अनुरोध किया है कि मृत्यु को जीवन का अंत न बनाएँ, संकल्प लेकर नेत्रदान/अंगदान/देहदान करें और महर्षि दधीचि की इस परपंरा को अपनाकर पीड़ित मानवता की सेवा में अपना योगदान दे।

Related posts

तकनीक के दम पर पूरे विश्व में छा गया भारत : धनखड़

admin

पहले ग्लोबल बॉयो इंडिया शिखर बैठक की मेजबानी करेगा भारत

Ashutosh Kumar Singh

हैरत : 9 घंटे की ब्रेन सर्जरी में सैक्सोफोन बजाता रहा मरीज

admin

Leave a Comment