स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

Good News : मंकीपॉक्स सैंपल की जांच के लिए किट विकसित

अजय वर्मा

नयी दिल्ली। मंकीपॉक्स के खौफ के बीच जहां टेस्ट किट और वैक्सीन के लिए आपाधापी मची है वहीं गुड़गांव की डायग्नोस्टिक कंपनी Genes2Me ने इसके वायरस का पता लगाने के लिए एक RTPCR किट विकसित कर ली है। उसकी POX-Q मल्टीप्लेक्स किट केवल 50 मिनट के भीतर अत्यधिक सटीक परिणाम देगी। WHO के अनुसार 85 से अधिक देशों में 20,000 से अधिक मंकीपॉक्स के मामले सामने आए हैं, जिसमें भारत के 4 पुष्ट मामले शामिल हैं।

किट बनाने की अपार क्षमता

Genes2Me के CEO और संस्थापक नीरज गुप्ता ने मीडिया को बताया कि इस अभूतपूर्व समय में स्वास्थ्य सुरक्षा तैयारियों और नैदानिक परखों का अधिक महत्व है। कंपनी ने मंकीपॉक्स के लिए यह RTPCR लॉन्च किया है जो उच्चतम सटीकता के साथ 50 मिनट से भी कम समय में परिणाम दें। कंपनी के पास वर्तमान में एक सप्ताह में 5 मिलियन परीक्षण किट बनाने की क्षमता है और इसे अतिरिक्त मांग के साथ एक दिन में 2 मिलियन परीक्षण तक बढ़ाया जा सकता है।

कहीं भी हो सकेगा उपयोग

यह किट किसी भी सामान्य रूप से उपलब्ध RTPCR परीक्षणों के लिए मानक संस्करण और Genes2Me  Rapi-Q HT रैपिड RTPCR डिवाइस पर पॉइंट ऑफ केयर प्रारूप दोनों में उपलब्ध है। कंपनी ने कहा कि इसका इस्तेमाल अस्पतालों, एयरपोर्ट्स, हेल्थ कैंप्स, डायग्नोस्टिक लैब्स और कई अन्य जगहों पर डायग्नोसिस के लिए किया जा सकता है।

Related posts

365 अस्पतालों में त्वरित ओपीडी पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध

admin

फेयरनेस क्रीम के बेतहाशा इस्तेमाल से किडनी को खतरा

admin

जनऔषधि पोषण और आयुष्मान विषय पर हुआ राष्ट्रीय परिसंवाद, आयुष्मान भारत एवं जनऔषधि परियोजना के शीर्ष अधिकारी हुए शामिल

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment