स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

स्वास्थ्य पेशेवर रजिस्ट्री के नर्स मॉड्यूल का शुभारंभ

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) ने आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM) के तहत स्वास्थ्य पेशेवर रजिस्ट्री के नर्स मॉड्यूल की शुरुआत की है। चिकित्सा की सभी प्रणालियों के डॉक्टरों के लिए मॉड्यूल और उनकी ऑनबोर्डिंग पहले से ही स्वास्थ्य पेशेवर रजिस्ट्री में उपलब्ध है और अब नर्स मॉड्यूल की इस देशव्यापी शुरुआत से आधुनिक और पारंपरिक चिकित्सा प्रणालियों में स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने वाली नर्सें भी स्वास्थ्य पेशेवर रजिस्ट्री में नामांकन करा सकती हैं। प्रधिकरण से मिली जानकारी के मुताबिक इस रजिस्ट्री में नामांकन के लिए आवेदनों का सत्यापन संबंधित परिषदों द्वारा किया जाएगा। इससे आगे बढ़ते हुए, एनएचए ने स्वास्थ्य पेशेवरों जैसे पैरा-मेडिकल, जमीनी स्तर पर सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता (आशा), चिकित्सा सहायता स्टाफ और संबद्ध स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों आदि का भी रजिस्ट्री में नामांकन करने की योजना बनाई गई है।

पंजीकरण कराना अनिवार्य

स्वास्थ्य पेशेवर रजिस्ट्री (HPR) आधुनिक और पारंपरिक दोनों चिकित्सा प्रणालियों में स्वास्थ्य सेवाओं की आपूर्ति में शामिल सभी स्वास्थ्य पेशेवरों का एक व्यापक भंडार है। एचपीआर आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM) का एक प्रमख निर्माण ब्लॉक है। HPR के माध्यम से, स्वास्थ्य पेशेवर भारत के डिजिटल स्वास्थ्य इकोसिस्टम के साथ ऑनबोर्ड हो सकते हैं और रोगियों को स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं से या स्वास्थ्य प्रदाताओं को अंतिम छोर की कवरेज तक जोड़ सकते हैं। HPR के लाभों में विशिष्ट एवं विश्वसनीय पहचान, ऑनलाइन उपस्थिति और टेलीमेडिसिन और एकीकृत डिजिटल सेवाओं के साथ खोजने की योग्यता शामिल हैं। स्वास्थ्य पेशेवर अपने आधार कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस का उपयोग करके वेबसाइट https//hpr.abdm.gov.in/ पर पंजीकरण कराके एचपीआर का हिस्सा बन सकते हैं।

एनएच की महती भूमिका

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) भारत सरकार का एक शीर्ष निकाय है, जो भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों, राज्य सरकारों और निजी क्षेत्र, नागरिक समाज संगठनों के साथ तालमेल से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM) के कार्यान्वयन का नेतृत्व करता है। यह डिजिटल हाइवेज के माध्यम से स्वास्थ्य देखभाल इकोसिस्टम विभिन्न हितधारकों के बीच मौजूदा अंतर को पाटने में मदद करेगा। एबीडीएम डेटा, सूचना और बुनियादी ढांचा सेवाओं की व्यापक रेंज के प्रावधानों के माध्यम से विधिवत खुले, अंतःप्रचालनीय, मानक-आधारित डिजिटल प्रणालियों का लाभ उठाते हुए एक सुगम ऑनलाइन मंच का सृजन करेगा और स्वास्थ्य संबंधित व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा, गोपनीयता और निजता सुनिश्चित करेगा। एनएचए प्रमुख योजना आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (ABPM-JAY) को भी लागू करता है।

 

Related posts

UP में भी हिंदी में मेडिकल पढ़ाई की तैयारी

admin

जर्मनी सम्पूर्ण स्वास्थ्य और स्थिरता पर एआई पहल को तैयार

admin

सरकारी योजनाओं में अब मिलेगा फोर्टिफाइड चावल

admin

Leave a Comment