स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

डिजिटल डेटा सुरक्षा विधेयक के मसौदे पर सरकार ने मांगी राय

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)।  इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय डिजिटल व्यक्तिगत डेटा और इसके संरक्षण के विभिन्न पहलुओं पर विचार कर रहा है, और डिजिटल व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक 2022 शीर्षक से एक मसौदा विधेयक तैयार किया है। मसौदा विधेयक का उद्देश्य डिजिटल व्यक्तिगत डेटा के प्रसंस्करण के लिए इस तरह से प्रदान करना है जो व्यक्तियों के अपने व्यक्तिगत डेटा की रक्षा करने के अधिकार और वैधानिक उद्देश्यों के लिए व्यक्तिगत डेटा का उपयोग करने की आवश्यकता और उससे जुड़े या उसके प्रासंगिक मामलों, दोनों की जानकारी है।

डेटा की होगी सुरक्षा

यह बिल एक तरफ नागरिक (डिजिटल नागरिक) के अधिकारों और कर्तव्यों की जानकारी देता है और दूसरी तरफ विश्वस्त डेटा के एकत्रित आंकड़ों का कानूनी रूप से उपयोग करने के दायित्वों के बारे में भी जानकारी देता है। विधेयक डेटा अर्थव्यवस्था से संबंधित सिद्धांतों पर आधारित है। यह विधेयक भारत में डिजिटल व्यक्तिगत डेटा संरक्षण को नियंत्रित करने वाली व्यापक कानूनी व्यवस्था की स्थापना करेगा।

17 दिसंबर तक मांगी राय

मसौदा विधेयक समझने में आसानी के लिए सरल और साधारण भाषा का उपयोग करता है और यह मंत्रालय की वेबसाइट https:www.meity.gov.in/data&protection&framework पर एक व्याख्यात्मक जानकारी के साथ उपलब्ध है, जिसमें इसके प्रावधानों का संक्षिप्त विवरण उपलब्ध कराया गया है। मंत्रालय ने मसौदा विधेयक पर जनता से प्रतिक्रिया आमंत्रित की है जिसे https:innovateindia.mygov.in/digital&data&protection / पर 17 दिसंबर तक जमा की जा सकती हैं। ’

 

 

Related posts

बाजार में आयेगा लीची का ड्राई फ्रूट अवतार

admin

सावधान! स्वास्थ्यकर्मियों के साथ हिंसा आपको जेल पहुंचा सकता है

Ashutosh Kumar Singh

तंदुरुस्ती के लिए सेवा धर्म का पालन जरूरी

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment