स्वस्थ भारत मीडिया
Uncategorized समाचार / News

भारत आयुर्वेद का घर, इसकी अनूठी ताकत दुनिया के सामने : डॉ. मांडविया

76वीं विश्व स्वास्थ्य सभा की बैठक में बोले डॉ. मनसुख मांडविया

नयी दिल्ली /जिनेवा (स्वस्थ भारत मीडिया)। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने जिनेवा में आयोजित 76वीं विश्व स्वास्थ्य सभा में कहा कि भारत सबसे पुरानी चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद का घर है और इसकी ताकत महामारी के दौरान दुनिया ने देखी है तभी आयुष उपचार के लोग आ रहे हैं।

One earth-One health की भारत की परिकल्पना

उन्होंने हील इन इंडिया एंड हील बाय इंडिया सत्र के दौरान आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्य भाषण दिया। उनके साथ स्वास्थ्य मंत्रालय के विशेष सचिव एस. गोपालकृष्णन भी थे। डॉ. मांडविया ने कहा कि एक पृथ्वी-एक स्वास्थ्य की कल्पना और वैश्विक समुदाय की सेवा करने के लिए, सरकार ने मूल्य-आधारित स्वास्थ्य सेवा की पहल की है। हील बाय इंडिया पहल को वसुधैव कुटुम्बकम के भारतीय दर्शन के अनुसार दुनिया की सेवा करने के लिए भारत से दुनिया के विभिन्न हिस्सों में स्वास्थ्य कार्यबल की गतिशीलता बढ़ाने के इरादे से तैयार किया गया है, जबकि हील इन इंडिया पहल भारत में दुनिया को ष्एकीकृत और समग्र उपचार प्रदान करना चाहती है।

आयुष उपचारों की मांग बढ़ी

उन्होंने बताया कि भारत दुनिया की सबसे पुरानी चिकित्सा प्रणाली, आयुर्वेद का घर है। इसकी अनूठी ताकत सामने आने के साथ, आयुर्वेद, योग, सिद्ध, यूनानी और होम्योपैथी जैसे आयुष उपचारों की मांग दुनिया भर में बढ़ी है और यहां इनको बढ़ावा मिला है।
भारत की G 20 की अध्यक्षता में एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य के दर्शन पर प्रकाश डालते हुए केन्द्रीय मंत्री ने दोहराया कि जी20 हेल्थ ट्रैक के तहत भारत ने स्वास्थ्य आपात स्थितियों, रोकथाम, तैयारी और प्रतिक्रिया को प्राथमिकता दी है।

वैक्सिनेशन में काफी प्रगति

भारत में हेल्थकेयर इकोसिस्टम को मजबूत करने के लिए किए गए उपायों पर जोर देते हुए, डॉ. मांडविया ने कहा कि भारत ने कोविड टीकाकरण की एक अकल्पनीय गति हासिल की है और भारत में अब तक 2.20 बिलियन से अधिक खुराक दी जा चुकी है। वैक्सीन मैत्री पहल के माध्यम से लाखों टीके दुनिया के साथ साझा किए गए थे। उन्होंने कहा कि एक लचीला स्वास्थ्य देखभाल इकोसिस्टम बनाने के लिए, भारत ने स्वास्थ्य सेवा के सभी पहलुओं को कवर करने के लिए आयुष्मान भारत पहल शुरू की है। दुनिया की सबसे बड़ी सरकार द्वारा वित्त पोषित स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (ABPM-JAY) 2018 में शुरू की गई थी।

Related posts

समय के साथ ढलना होगा Red Cross को : मांडविया

admin

तरनी फाउंडेशन फॉर लाइफ के पदाधिकारी केन्द्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा से मिले, जनऔषधि मित्र टी-शर्ट का हुआ लोकार्पण

बिना देरी किये करायें मधुमेह का इलाज वरना…

admin

Leave a Comment