स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

पूर्वाेत्तर में आयुष को बड़े पैमाने पर प्रोत्साहन

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। पूर्वाेत्तर भारत में आयुष क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने चार प्रमुख पहल लॉन्च कीं। उन्होंने गुवाहाटी में केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान (CARI) में पूर्वाेत्तर क्षेत्र के प्रथम समर्पित पंचकर्म ब्लॉक, अत्याधुनिक फार्माकोलॉजी और बायो केमिस्ट्री प्रयोगशालाओं का उद्घाटन किया। इसके साथ ही एकीकृत आयुष कल्याण केंद्र और क्षेत्रीय होम्योपैथी अनुसंधान संस्थान (RRIH) के स्थायी परिसर की आधारशिला भी रखी।

समृद्ध उपचार प्रणालियों का मिलेगा लाभ

इस अवसर पर श्री सोनोवाल ने कहा कि आयुर्वेद, योग, यूनानी, सिद्ध, होम्योपैथी, प्राकृतिक चिकित्सा और सोवा रिग्पा जैसी हमारी समृद्ध उपचार प्रणालियों के सिद्ध परिणामों को देखते हुए यह जरूरी है कि उनके सदियों पुराने उपचारों को आधुनिक चिकित्सा कर्म में शामिल किया जाए। इसका परिणाम एक शक्तिशाली एकीकृत चिकित्सा के रूप में सामने आएगा, जो शारीरिक बीमारियों को ठीक करेगी और मानसिक कल्याण का मार्ग प्रशस्त करेगी।

दिग्गजों की रही उपस्थिति

इस मौके पर असम के स्वास्थ्य मंत्री केशब महंत; गुवाहाटी की सांसद क्वीन ओजा; विधायक अतुल बोरा; विधायक रामेंद्र नारायण कलिता ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज करायी और केंद्रीय मंत्री के साथ क्षेत्र में आयुष को बढ़ावा देने से संबंधित इन बड़ी पहलों के शुभारंभ में शामिल हुए। इस कार्यक्रम में सिविल सोसायटी की कई प्रमुख हस्तियों, आयुष मंत्रालय और स्थानीय प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ-साथ विद्यार्थी भी शामिल हुए।

Related posts

गांधीनगर में जी 20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक 17 अगस्त से

admin

तैयार रहें चीन के नये जानलेवा वायरस से

admin

लू के दुष्प्रभावों से बचायें अपने बच्चों को, गाइडलाइन जारी

admin

Leave a Comment