स्वस्थ भारत मीडिया
आयुष / Aayush

आयुष क्षेत्र के पद्म विजेताओं को मंत्रालय ने किया सम्मानित

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। आयुष मंत्रालय ने आयुष के क्षेत्र में योगदान देने वाले 2023 के पद्म पुरस्कार विजेताओं को एक समारोह में सम्मानित किया। केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने आयुष प्रणालियों को लोकप्रिय बनाने में योगदान देने के लिए कमलेश पटेल (पद्म भूषण), अध्यक्ष, श्री राम चंद्र मिशन, हैदराबाद,  डॉ. मनोरंजन साहू (पद्म श्री), प्रख्यात आयुर्वेद चिकित्सक और सर्जन और डॉ. गोपालसामी वेलुचामी (पद्म श्री), सिद्ध चिकित्सक को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

पुरस्कार उत्कृष्टता का प्रतीक : मंत्री

इस मौके पर मंत्री ने कहा कि पद्म पुरस्कार विजेताओं की उपलब्धियां हम सभी के लिए प्रेरणा के समान हैं और उत्कृष्टता के प्रति अटूट प्रतिबद्धता, पूरे देश के लिए एक शानदार उदाहरण पेश करती है। उन्होंने कहा कि ये पुरस्कार उत्कृष्टता के प्रतीक हैं और अपनी अथक मेहनत एवं समर्पण के माध्यम से हमारे समाज में योगदान देने वाले व्यक्तियों को सम्मानित करना, राष्ट्र के लिए बहुत गर्व की बात है।

अमूल्य योगदान रहा इन सबका

मालूम हो कि श्री कमलेश पटेल चार दशकों से अधिक समय से, भारत में वंचित समुदायों को शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल तथा आजीविका के अवसर प्रदान करने के लिए समर्पित रूप से काम कर रहे हैं। अपने हार्टफुलनेस (दिल की धड़कन) आंदोलन के माध्यम से उन्होंने 160 से अधिक देशों में ध्यान योग तक मुफ्त पहुंच को सक्षम बनाया है। डॉ. मनोरंजन साहू आयुर्वेदिक सर्जरी के विशेषज्ञ हैं। वे किफायती कीमत पर समाज के गरीब और कमजोर वर्गों का निस्वार्थ उपचार कर रहे हैं। डॉ. गोपालसामी वेलुचामी ने 2018 से 2021 तक आयुष मंत्रालय के सिद्ध अनुसंधान के शीर्ष निकाय सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन सिद्धा के वैज्ञानिक सलाहकार बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है। वे वर्तमान में सिद्ध फार्माकोपिया समिति, चेन्नई के मानद अध्यक्ष हैं। कोविड-19 प्रबंधन के लिए संभावित दवा के रूप में ‘काबासुराकुदिनेर’ का सुझाव सबसे पहले देने वालों में डॉ. वेलुचामी अग्रणी थे।

Related posts

कोरोना को हराने की गंभीर चुनौती

Ashutosh Kumar Singh

कोविड-19 के खिलाफ महत्वपूर्ण हो सकती है आयुष से यह साझेदारी

Ashutosh Kumar Singh

insomnia and its homeopathic remedies

admin

Leave a Comment