स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

यूपी में स्थापित होगा फार्मास्युटिकल रिसर्च एंड इनोवेशन इंस्टीट्यूट

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। यूपी में फार्मा सेक्टर में अनुसंधान को प्रोत्साहित करने के लिए एक नये संस्थान की स्थापना होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक उच्चस्तरीय बैठक में विमर्श कर यह फैसला लिया।

दवा निर्माण में अग्रणी बनें

उन्होंने कहा कि दवा निर्माण इकाइयों की संख्या में उत्तर प्रदेश देश का छठा सबसे बड़ा राज्य है लेकिन अब अग्रणी राज्य बनने का लक्ष्य है। इसे क्षेत्र में यूपी का योगदान दो प्रतिशत है जिसे 10-12 प्रतिशत तक पहुंचाने की आवश्यकता है। इस सेक्टर में विकास की बड़ी संभावनाएं हैं। इन संभावनाओं का लाभ उठाना चाहिए। हमें दवा निर्माण के साथ-साथ शोध-अनुसंधान पर भी फ़ोकस करना होगा।

बायोफार्मा हब के रूप में उभरा लखनऊ

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कई उच्चस्तरीय शोध संस्थान और अकादमिक संस्थान हैं। नियोजित प्रयासों से बीते कुछ वर्षों में लखनऊ बायोफार्मा हब के रूप में उभर कर आया है। फार्मा पार्क निर्माण की कार्यवाही चल रही है तो मेडिकल डिवाइस पार्क का भी निर्माण किया जाना है। इस संसाधनों का बेहतर लाभ उठाना होगा। उन्होंने कही-दवा उद्योग को प्रोत्साहित करने के लिए हमें गुणवत्तापूर्ण शिक्षण संस्थानों, रिसर्च लैब और इंडस्ट्री, तीनों क्षेत्रों पर ध्यान देने की आवश्यकता है। ऐसे में फार्मास्युटिकल रिसर्च एंड इनोवेशन इंस्टीट्यूट की स्थापना की जानी चाहिए।

शीघ्र कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश

सीएम ने फार्मास्युटिकल रिसर्च एंड इनोवेशन इंस्टीट्यूट के स्वरूप के संबंध में 15 दिनों में विस्तृत कार्ययोजना बनाने का निर्देश  भी दिया। यह संस्थान राष्ट्रीय स्तर पर सूबे को फार्मास्युटिकल शोध-अनुसंधान और मैन्यूफैक्चरिंग के क्षेत्र में नई पहचान दिलाने वाला होगा।

Related posts

नसबंदी कांड को रफा दफा करने में जुटी है रमन सरकारःराहुल गांधी

Ashutosh Kumar Singh

Good news : तय समय से 5 महीने पहले 10 % इथेनॉल मिश्रण का लक्ष्य हासिल

admin

बिलासपुर सिम्स में राजनीतिक शास्त्र का छात्र बांट रहा है दवाइयां…

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment