स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

‘मन की बात-91 में छा गई शहद की मिठास

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ की 98वीं कड़ी में आयुष, शहद उत्पादन और परंपरागत चिकित्सा के क्षेत्र में उपलब्धियों की सराहना की है।

आयुष निर्यात में तेजी

उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में आयुष ने वैश्विक स्तर पर अहम भूमिका निभाई है। दुनिया भर में आयुर्वेद और भारतीय औषधियों के प्रति आकर्षण बढ़ रहा है। ये एक बड़ी वजह है कि आयुष निर्यात में तेजी आई है। इस क्षेत्र में कई नए स्टार्टअप भी सामने आ रहे हैं। इसी साल एक वैष्विक आयोजन हुआ था जिसके बाद करीब दस हज़ार करोड़ के प्रसताव मिले है। कोरोना काल में औषधीय पौधों पर शोध में भी तेजी हुई है।

जड़ी-बूटियों पर हुआ शोध

इसी तरह औषधीय पौधों और जड़ी-बूटियों को लेकर एक और बेहतरीन प्रयास हुआ है। उन्होंने बताया कि इसी माहं Indian Virtual Herbarium को लांच किया गया। इस Virtual Herbarium पर अभी लाख से अधिक नमूने और उनसे जुड़ी वैज्ञानिक जानकारी उपलब्ध है। Indian Virtual Herbarium भारतीय वनस्पतियों पर शोध के लिए एक महत्वपूर्ण स्रोत बनेगा।

शहद उत्पादन ने मिठास घोली

इस प्रसंग में पीएम ने शहद की चर्चा की। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद ग्रंथों में तो शहद को अमृत बताया गया है। शहद न केवल हमें स्वाद बल्कि आरोग्य भी देता है। शहद की मिठास किसानों की आय भी बढ़ा रही है। हरियाणा में एक मधुमक्खी पालक वैज्ञानिक तरीक़े से मधुमक्खी पालन में लगे हैं। उन्होंने केवल छःह बॉक्स के साथ अपना काम शुरू किया था। आज वो करीब दो हज़ार बॉक्सेस में मधुमक्खी पालन कर रहे हैं। उनका शहद कई राज्यों में जाता है। जम्मू में एक किसान डेढ़ हज़ार से ज्यादा कॉलोनियों में मधुमक्खी पालन कर रहे हैं। उन्होंने पिछले साल रानी मक्खी पालन का प्रशिक्षण लिया। अब वे सालाना 15 से 20 लाख कमा रहे हैं। कर्नाटक के एक किसान ने सरकार से 50 मधुमक्खी कॉलोनियों के लिए सब्सिडी ली थी। आज उनके पास 800 से ज्यादा कॉलोनियां हैं, और वो कई टन शहद बेचते हैं। वे अब जामुन शहद, तुलसी शहद, आंवला शहद जैसे वानस्पतिक शहद भी बना रहे हैं। अब National Beekeeping and Honey Mission अभियान चल रहा है जो दुनिया भर में हमारी मिठास पहुंचायेगा।

Related posts

साइबर योद्धा बनकर मिशन मोड में काम करना होगा : इंद्रेश कुमार

admin

बिहार सरकार कोरोना वैक्सीन खरीद कर करायेगी टीकाकरण

admin

भारत के पास पोर्टेबल अस्पताल भी

admin

Leave a Comment