स्वस्थ भारत मीडिया
विज्ञान और तकनीक / Sci and Tech

विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में साल 2023 के लिए लक्ष्य निर्धारित

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 2023 साइंस विजन 2047 में भारत को परिभाषित करेगा। उन्होंने कहा कि 2047 में स्वतंत्र भारत के 100 वर्ष पूरे होंगे और शताब्दी के सपने साकार होंगे। विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में 2023 के लिए फोकस क्षेत्रों की रूपरेखा की भी उन्होंने जानकारी दी।

ग्रीन हाइड्रोजन पर फोकस

उन्होंने बताया कि जैव प्रौद्योगिकी विभाग (DBT) मौजूदा और उभरती बीमारियों के लिए टीकों के सुधार में निवेश करके कोविड-19 वैक्सीन मिशन की सफलताओं को आगे बढ़ाएगा। बाजरा के अंतर्राष्ट्रीय वर्ष में बाजरा और पादप विषाणुओं के पैथो-जीनोमिक्स पर भी प्रमुख मिशन शुरू किए जाएंगे। इसके साथ ही 2023 में वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) ग्रीन हाइड्रोजन पर भी ध्यान केंद्रित करेगा क्योंकि यह स्वच्छ ऊर्जा मिशन के हिस्से के रूप में स्वदेशी ग्रीन हाइड्रोजन में पहले ही प्रगति कर चुका है।

ब्लू इकोनॉमी को गति मिलेगी

डॉ. सिंह ने आगे कहा कि पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय गहरे समुद्र मिशन और प्रौद्योगिकियों पर ध्यान केंद्रित करेगा, जो आने वाले वर्षों में भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूती देगा। इस साल ब्लू इकोनॉमी को आगे बढ़ाया जाएगा। परमाणु ऊर्जा विभाग भारत के चुनावी प्रबंधन में अपने योगदान के लिए चुनाव आयोग के लिए लगभग 21.00 लाख उपकरण वितरित करेगा जिसमें बैलेट यूनिट (BU), कंट्रोल यूनिट (CU) और वोटर वेरीफाईएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (VVPAT) शामिल हैं जिन्हें ECIL द्वारा सितंबर-अक्टूबर 2023 तक पूरा किया जाना है।

Related posts

ग्रीन हाइड्रोजन प्राप्त करने के लिए नया उत्प्रेरक

admin

नया सेंसर बताएगा कितने पके हैं फल

admin

बेंगलुरु की झील में झाग के अंबार के पीछे घरेलू शैंपू और डिटर्जेंट

admin

Leave a Comment