स्वस्थ भारत मीडिया
फ्रंट लाइन लेख / Front Line Article

73 साल के प्रधानमंत्री ऐसे रखते हैं खुद को चुस्त-दुरुस्त

अजय वर्मा

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही 73वां जन्मदिन मनाया है। वे इस उम्र में भी एक्टिव और फिट नजर आते हैं। वे प्रशासनिक, राजनयिक और राजनीतिक कामों में लगातार व्यस्त रहते हैं। कई बार विदेश यात्राओं से लौटते हीे जरूरी बैठक, रैलियां आदि में शरीक होते हैं। कहा भी जाता है कि वे 18 घंटे काम करते हैं।

सुबह का पहला काम योगासन

सवाल है कि आखिर इस एनर्जी का राज क्या है? विभिन्न स्रोत बताते हैं कि प्रधानमंत्री इस फिटनेस और एनर्जी का श्रेय अपने सात्विक भोजन, योग, ध्यान, आयुर्वेद और दिनचर्या को देते हैं। वे भले ही सार्वजनिक प्रेस कांफ्रेंस कर इसका खुलासा न करते हों लेकिन इस बारे में उपलब्ध जानकारी बताती है कि वे दिन की शुरुआत योगासन से करते हैं। वे सुबह 5 बजे उठ जाते हैं। इसके बाद 30 से 45 मिनट योगासन और मेडिटेशन करते हैं। सूर्य नमस्कार, योग निद्रा, प्राणायाम, शवासन आदि करते हुए उनकी कई तस्वीरें मीडिया में उपलब्ध हैं।

नंगे पैर ओस वाली घास पर पैदल चलना पसंद

उनका पद व्यस्त शेड्यूल वाला है। दिनभर लोगों से मिलना, सुरक्षा के बीच रहना, गाड़ियों और हवाई जहाज में सफर करना होता है। इस बीच भी वे हर दिन थोड़ा समय वॉक के लिए जरूर निकालते हैं। उनकोे जब मौका मिलता है, तो वो नंगे पैर सुबह की ओस वाली घास पर पैदल चलना पसंद करते हैं। नंगे पैर घास पर चलने के ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ हैं।

क्या खाते हैं पीएम मोदी?

जानकारी के मुताबिक वे सामान्य दिनों में सुबह 9 बजे तक ब्रेकफास्ट कर लेते हैं। उनके ब्रेकफास्ट में फल और सब्जियां होती हैं। गुजराती होने के कारण उन्हें गुजराती खाना खास पसंद है। उनकी फेवरिट डिश में गुजराती खिचड़ी, गट्टे की करी, खांडवी, बेसन की रोटी आदि शामिल है। मीठे में उन्हें श्रीखंड खाना पसंद है। वे शुद्ध शाकाहारी भोजन करते हैं। इसलिए उनके खाने में ढेर सारी रंगीन सब्जियां, मशरूम, कई तरह के अनाज (मिलेट्स) आदि शामिल रहते हैं। शायद यही कारण है कि जी 20 सम्मेलन में भी विदेशी मेहमानों को मिलेट्स से बने फूड्स ही परोसे गए थे।

सबसे ज्यादा पसंद है सहजन का पराठा

उन्होंने कुछ साल पहले फिट इंडिया मूवमेंट के एक कार्यक्रम में बताया था कि उन्हें सहजन की रोटी बहुत पसंद है। इसके अलावा वो सहजन की सब्जी खाना भी पसंद करते हैं। दरअसल सहजन बहुत सारे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। विदेशों में इसे सुपरफूड के रूप में मान्यता मिली हुई है। मगर भारत में लोग इसके फायदों के बारे में कम जानते हैं।

आयुर्वेद और घरेलू उपायों से दूर रखते हैं बीमारियां

आपको याद होगा कि 2019 में अभिनेता अक्षय कुमार को दिए अपने इंटरव्यू में पीएम मोदी ने बताया था कि सर्दी-जुकाम जैसी सामान्य परेशानियां होने पर वो आयुर्वेद और घरेलू नुस्खों की मदद लेते हैं। उन्होंने बताया था कि ऐसी स्थिति में वो कई दिनों तक सिर्फ गर्म पानी पीते हैं और सरसों का तेल गर्म करके नाक में डाल लेते हैं, जिससे उन्हें जल्द आराम मिल जाता है। वे कैस्टर ऑयल (अरंडी का तेल) के भी फैन हैं। उन्होंने तब बताया था कि कुछ साल पहले मैं कैलाश यात्रा पर गये थे। लगभग 1000 किलोमीटर की इस यात्रा में बहुत जगहों पर पैदल चलना था। उनके साथ बहुत से लोग थे जो स्किन पर लगाने के लिए मंहगे-मंहगे प्रोडक्ट्स लेकर गए थे। लेकिन उनके पास सिर्फ अरंडी का तेल था, वही अपनी स्किन पर लगा लिया करते थे। 6 दिन बाद उन सबकी स्किन में जलन हो रही थी, मगर उन्हें कुछ नहीं हुआ। उसके बाद से हर यात्री रात में कैस्टर ऑयल लगाने लगा।

Related posts

आयुष के लिए परिवर्तनकारी साबित हुआ 2023

admin

दक्षिण एशिया का सर्वश्रेष्ठ नेत्र अस्पताल लहान का सागरमाथा चौधरी आंख अस्पताल

admin

जनऔषधि के समर्थन में है तेजपुर के डॉक्टर

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment