स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

वैक्सीनेशन ने बचाई 60 फीसदी कोरोना मरीजों की जान

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। ICMR की स्टडी के मुताबिक कोरोना वैक्सीनेशन ने 60 प्रतिशत मरीजों की जान बचायी। विपरीत परिस्थिति में अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद करीब 6.5 फीसद कोरोना मरीजों की मौत हुई। संक्रमण की चपेट में आने के बाद जिन लोगों को गंभीर हालत में भर्ती किया गया उनमें संक्रमण का असर लंबे समय तक देखने को मिला।

14 हजार से अधिक मरीजों से पूछताछ

ICMR की इस स्टडी को लेकर मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक शोधकर्ताओं ने बताया कि कोरोना के लिए गठित नेशनल क्लीनिकल रजिस्ट्री (NCR) के तहत देश के 31 अस्पतालों में भर्ती मरीजों पर यह अध्ययन किया गया है। इसके लिए कुल 14,419 मरीजों का चयन किया गया जिनके अस्पताल से घर जाने के बाद टीम ने कम से कम एक बार फोन पर फॉलोअप लिया। पूछताछ में पता चला कि अस्पताल से छुट्टी होने के एक वर्ष में 942 (6.5 फीसद) लोगों की मौत हुई। इनको को संक्रमित होने से पहले अन्य बीमारियां भी थीं। शोधकर्ताओं ने इस साल फरवरी तक मरीजों से फालॉअप लिया।

40 पार वाले पुरुषों में जोखिम अधिक

स्टडी के अनुसार यह भी पता चला है कि अस्पताल से छुट्टी के एक साल के भीतर उन पुरुष रोगियों में जान का जोखिम अधिक रहा जिनकी आयु 40 वर्ष से अधिक थी और वह अन्य रोगों से ग्रस्त थे। इसी विश्लेषण में यह भी पता चला कि अस्पताल से छुट्टी के बाद जिन लोगों ने कोरोना का टीका लिया, उनमें जान का जोखिम 60 फीसद तक कम देखने को मिला है। 18-45 वर्ष की आयु के लोगों में भी इसी तरह के परिणाम देखे गए जिन पर स्टडी चल रही है।

Related posts

Artificial membrane inspired by fish scales may help in cleaning oil spills

“कायाकल्‍प पखवाड़ा”

रक्तदाता दिवस पर कई जगह लगे ब्लड डोनेशन कैंप

admin

Leave a Comment