स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार स्वस्थ भारत अभियान

52 और दवाइयों पर कसा एनपीपीए का शिकंजा!

एसबीए डेस्क

दवाइयों के मूल्यों को कैसे नियंत्रित किया जाए, इस पर चर्चा-परिचर्चा करते आशुतोष कुमार सिंह (बीच) अफरोज आलम साहिल, डॉ. राजेश
दवाइयों के मूल्यों को कैसे नियंत्रित किया जाए, इस पर चर्चा-परिचर्चा करते आशुतोष कुमार सिंह (बीच) अफरोज आलम साहिल, डॉ. राजेश

राष्ट्रीय फार्मास्यूटिकल्स प्राइसिंग ऑथोरिटी (एनपीपीए)ने अपने नए नोटिफिकेशन में 52 और दवाइयों को जरूरी दवा सूची में डाला है। अब जरूरी दवा सूची में शामिल दवाइयों की संख्या 400 हो गयी हैं। इसके पूर्व यह संख्या 348 थी, वहीं डीपीसीओ-1995 के अंतर्गत इनकी संख्या महज 74 ही थीं, जिसे डीपीसीओ-2013 के अंतर्गत बढ़ाकर 348 कर दिया गया था। जरूरी दवा सूची में इन दवाइयों के शामिल होने से एनपीपीए प्रत्यक्ष रूप से इन दवाइयों के मूल्यों पर निगरानी रख सकेगा। इसी संदर्भ में एनपीपीए ने 52 दवाइयों की सेलिंग प्राइस को अधिसूचित किया है। नीचे की टेबल में उनके नाम दिए गए हैं।
स्वस्थ भारत अभियान की जीत
स्वस्थ भारत अभियान पिछले कई वर्षों से ‘कंट्रोल मेडिसिन मैक्सिमम् रिटेल प्राइस’ कैंपेन चला रहा है। जिसके तहत बेतहाशा बढ़ी दवाइयों के दाम को नियंत्रित कराने के लिए सरकार पर दबाव बनाया जा रहा है। इस संदर्भ में यह प्रयास सराहनीय है। इस बावत स्वस्थ भारत अभियान के संयोजक आशुतोष कुमार सिंह सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हुए कहते हैं कि जबतक दवाइयों के दाम को तय करने का मैकेनिजम दुरूस्त नहीं होगा तब तक आम उपभोक्ताओं को वास्तविक रूप से सस्ती दवाइयां नहीं मिल पायेगी। गौरतलब है कि वर्तमान में दवाइयों के दाम को तय करने के लिए मार्केट बेस्ट प्राइसिंग को अपनाया गया है जो कि पहले कॉस्ट बेस्ड प्राइसिंग था। स्वस्थ भारत अभियान मार्केट बेस्ड प्राइसिंग का विरोध करता है।
 
The National Pharmaceutical Pricing Authority has fixed / revised the prices in respect of 52 formulation packs both ceiling and retail price packs under DPCO, 2013 in related Notification / order dated 10.12.2014 is given below :-
For details please click the following:
Copies of Gazette Notifications for Ceiling Prices/retail price under DPCO, 2013
 

S.NoS.O.NoDateFormulation based on bulk drugs
1.3126(E)10-12-2014Bleaching Powder, Ketamine Hydrochloride, Zinc Sulfate
2.3127(E)10-12-2014Ascorbic Acid, Cloxacillin, Gentamycin, Glucose, Glucose+ Normal Saline, Griseofulvin and Normal Saline
3.3128(E)10-12-2014Codeine Phosphate, Diazepam, Efavirenz, Hormone Releasing, Iodine and Isosorbide Dinitrate
4.3129(E)10-12-2014Ascorbic Acid, Chlorpromazine, Methyldopa and Vitamin A
5.3130(E)10-12-2014Ciprofloxacin Hydrochloride
6.3131(E)10-12-2014Glucose
7.3132(E)10-12-2014Sodium Meglumine Diatrizoate
8.3133(E)10-12-2014Co-Trimoxazole(Trimethoprim+ Sulphamethoxazole)
9.3134(E)10-12-2014Mannitol
10.3135(E)10-12-2014Paracetamol
11.3136(E)10-12-2014Amoxycilline + Potassium Clavulanate
12.3137(E)10-12-2014Metoprolol Succinate+ Cilnidipine (Cardiocil M)
13.3138(E)10-12-2014Cefixime + Azithromycin (Trusten AZ tablet)
14.3139(E)10-12-2014Levofloacin + Azithromycin (Levobact AZ)
15.3140(E)10-12-2014Gatifloxacin+Prednisolone
16.3141(E)10-12-2014Atorvastatin calcium+ Clopidogrel (Clopid AT10 & AT 20)
17.3142(E)10-12-2014Gliclazide+ Metformin (Glikey MF 60 & 80)
18.3143(E)10-12-2014Cefpodoxime Proxetil & Azithromycin
19.3144(E)10-12-2014Povidone Iodine+ Ornidazole (Zuventdine OZ)
20.3145(E)10-12-2014Telmisartan+Hydrochlorothiazide+Amlodipine
21.3146(E)10-12-2014Losartan Potassium+Chlorthalidone
22.3147(E)10-12-2014Paclitaxel (NAB Tortaxel)
23.3148(E)10-12-2014L-Thyroxine Sodium (Uthyrox 25)
24.3149(E)10-12-2014Rosuvastatin+Aspirin
25.3150(E)10-12-2014Clobetasol Propionate+ Neomycin+ Miconazole (Clobetavate NM)
26.3151(E)10-12-2014Ilaprazole + Domperidone (Chekcid-D SR)
27.3152(E)10-12-2014Cyclosporine+ Benzalkonium
28.3153(E)10-12-2014Diclofenac Potassium and Serratiopeptidase
29.3154(E)10-12-2014Clobetasol propionate+ Neomycin+ Miconazole+ Zinc (Clobetavate GM)
30.3155(E)10-12-2014Calcium-Mecobalamin-Pyridoxine
31.3156(E)10-12-2014Dicyclomine HCl+ Diclofenac+Benzalkonium (Superspas -RF)

विशेष जानकारी के लिए इस लिंक पर जाएं
http://www.nppaindia.nic.in/index1.html

Related posts

स्वस्थ भारत अभियान की टीम बिलासपुर पहुंची, मरीजों का हाल जाना

swasthadmin

कोविड-19 से कैसे लड़ रहा है हमारा पड़ोसी बांग्लादेश

बिहार में जनऔषधि केन्द्र खोलना हुआ आसान, बिहार सरकार देगी सरकारी अस्पतालों में स्थान

swasthadmin

Leave a Comment