स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

CGHS लाभार्थियों को अब तीन संस्थानों में कैशलेस उपचार की सुविधा

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। अब एम्स नई दिल्ली, PGIMER चंडीगढ़ और JIPMER पुडुचेरी में CGHS लाभार्थियों (सेवारत और पेंशनभोगी दोनों) के लिए कैशलेस उपचार सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इस आशय के समझौता ज्ञापन पर तीनों संस्थानों और CGHS, स्वास्थ्य मंत्रालय के बीच केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की उपस्थिति में यहां हस्ताक्षर किए गए। यह पहल CGHS और भोपाल, भुवनेश्वर, पटना, जोधपुर, रायपुर और ऋषिकेश स्थित एम्स के बीच 20 मई को संपन्न Moa पर आधारित है।

अग्रिम भुगतान और दावों की परेशानी खत्म

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने Moa पर हस्ताक्षर करते समय कहा कि लाभार्थियों को कैशलेस आधार पर इन तीन संस्थानों में  पेंशनभोगी लाभार्थियों को विशेष रूप से फायदा मिलेगा। इससे उन्हें व्यक्तिगत भुगतान दावों को प्रस्तुत करने और मंजूरी की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इस नई पहल के साथ, लाभार्थियों को अग्रिम भुगतान करने और अदायगी वापस मांगने की परेशानी के बिना, इन चिकित्सा संस्थानों में अत्याधुनिक उपचार सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इस सुव्यवस्थित प्रक्रिया से समय की बचत होगी, कागजी कार्रवाई कम होगी और व्यक्तिगत दावों के निपटान में तेजी आएगी।

मुख्य विशेषताएं

इस पहल की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं-CGHS पेंशनभोगियों और लाभार्थियों की अन्य पात्र श्रेणियों के लिए बाह्य रोगी विभागों (OPD), जांचों और इनडोर उपचार के लिए कैशलेस उपचार उपलब्ध होगा। तीनों संस्थान CGHS पेंशनभोगियों और अन्य पात्र लाभार्थियों के लिए क्रेडिट बिल जारी करेंगे और CGHS अधिमानतः बिल प्राप्त होने के 30 दिन के भीतर भुगतान करेगा।  लाभार्थियों को इन संस्थानों में इलाज के लिए वैध लाभार्थी आईडी कार्ड प्रस्तुत करने पर ही भर्ती किया जाएगा। तीनों जगह अलग हेल्प डेस्क और लेखा प्रणालियां बनाई जाएंगी।

Related posts

संपन्न हुआ लोकसंस्कृति का पर्व ‘देशज’

admin

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 को, पीएम रहेंगे मैसूर में

admin

भारतीय पेट्रोलियम संस्थान में स्थापित होगा कोविड-19 परीक्षण केंद्र

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment