स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

समुद्री कूड़े के खिलाफ स्वच्छ सागर, सुरक्षित सागर अभियान

नयी दिल्ली। केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय अंतर्राष्ट्रीय तटीय सफाई दिवस के अवसर पर 17 सितंबर को देश की लगभग 7,500 किलोमीटर लंबी तटरेखा के साथ बड़े पैमाने पर स्वच्छता अभियान आयोजित करने की तैयारी कर रहा है। समुद्री पर्यावरण में कचरा, विशेष रूप से प्लास्टिक के रूप में, दुनिया भर में एक प्रमुख चिंता का विषय है, जिसमें कई अध्ययन समुद्री जैव विविधता, पारिस्थितिक तंत्र, मत्स्य पालन, मानव स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था पर उनके हानिकारक प्रभाव दिखाते हैं।

कई संगठनों की भागीदारी

अंतर्राष्ट्रीय तटीय सफाई दिवस हर साल सितंबर के तीसरे शनिवार को विश्व स्तर पर मनाया जाता है। इस वर्ष यह 17 सितंबर को पड़ रहा है। भारत सरकार, अन्य स्वयंसेवी संगठन और स्थानीय समाज भारत की लगभग 7500 किलोमीटर लंबी तटरेखा के साथ “स्वच्छ सागर, सुरक्षित सागर“ (स्वच्छ तट, सुरक्षित सागर) एक स्वच्छता अभियान चलाएंगे। इस अभियान में भारतीय तटरक्षक, पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (MOEFCC), राष्ट्रीय सेवा योजना (NSS), राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA), सीमा जागरण मंच, एसएफडी, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) शामिल होंगे।

मोबाइल ऐप इको मित्रम भी लॉन्च

आजादी का अमृत महोत्सव के मौके पर देश भर के 75 समुद्र तटों पर तटीय सफाई अभियान चलाया जाएगा, जिसमें समुद्र तट के प्रत्येक किलोमीटर के लिए 75 स्वयंसेवकों को शामिल किया जाएगा। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव डॉ. रविचंद्रन ने मीडिया को बताया कि अभियान के बारे में जागरूकता फैलाने और आम लोगों के लिए 17 सितंबर को समुद्र तट की सफाई गतिविधि के लिए पंजीकरण करने के लिए एक मोबाइल ऐप “इको मित्रम“ भी लॉन्च किया गया है।

इंडिया साइंस वायर से साभार

Related posts

अपनी भाषा के प्रति गौरव बढ़ाएं : प्रो. रजनीश कुमार शुक्ल

admin

सिल्चर में खुला क्षेत्रीय यूनानी चिकित्सा अनुसंधान संस्थान

admin

Virucidal coating to prevent COVID-19 transmission

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment