स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार

दिल्ली सरकार: बीमार स्वास्थ्य व्यवस्था की कहानी

दिल्ली सरकार की बीमार स्वास्थ्य व्यवस्था

दिल्ली सरकार के एक बड़े अस्पताल में कोरोना मरीजों को किस तरह की सुविधा मिल रही है। इसकी कहानी ब्यान करती यह गायत्री सक्सेना की यह रिपोर्ट

 

 नई दिल्ली/ एसबीएम

कोरोना के इस महासंकट में दिल्ली सरकार अपनी ओर से तमाम सुविधाएं देने की घोषणा कर रही है। सुविधा दी भी जा रही है। बावजूद इसके अभी भी ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें ठीक से सुविधाएं नहीं मिल पा रही है। पहले यह लगता था कि मरीज को अस्पताल में भर्ती करा देना ही पर्याप्त है। क्योंकि कोरोना अस्पतालों में दूसरे लोगों का प्रवेश भी प्रतिबंधित है। इस बीच दिल्ली के अस्पतालों में लापरवाही के मामले सामने में आ रहे हैं। कुछ दिन पहले मुंबई के एक अस्पताल से भी लापरवाही का मामला सामने आया था।

दिल्ली में भी एक ऐसी ही घटना सामने आई है। अपनी मां का सही तरीके से ईलाज के लिए एक बेटी सोशल मीडिया पर गुहार लगा रही है। ट्वीटर पर उसके ट्वीट वायरल हो रहा है। मंगलवार 12 मई  को दिल्ली की निधि शर्मा ने एक ट्वीट के माध्यम से बताया कि किस तरह उनकी मां का ईलाज ठीक से नहीं हो पा रहा है।

इस बावत निधि का कहना है कि उनकी माता दुर्गा शर्मा   को कोरोना पॉजिटिव पाऐ जाने पर  एलएनजेपी अस्पताल में  10 मई को भर्ती किया गया था।  माता जी पहले से ही  किडनी और  शुगर  की मरीज रही हैं। कोरोना के पॉजिटिव होने पर उनकी स्थिति बहुत बिगड़ गई है।  साथ ही  उनका डायलिसिस की प्रक्रिया को भी समय से पूरा नही किया जा रहा है। उनको नित्य क्रिया कराने के लिए भी सहयोगी की जरूरत होती है, जिसे पूरा नहीं किया जा रहा है। निधि ने अपने ट्वीट के माध्यम से माता जी की  देखभाल में अस्पताल पर बेरूखेपन का आरोप लगाया है। निधि को लग रहा है कि उनकी मां की तबीयत इस बेरूखेपन के कारण और ज्यादा खराब हो रही है।

आप यहा देख सकते हैं कि अपने वीडियो संदेश में निधि क्या कह रही हैं…

 

निधि को इस बात का भी कष्ट है कि कोरोना संकट  के नियमानुसार वे खुद अस्पताल में नहीं जा सकती है। दूसरी ओर उनकी मां का फोन भी नहीं उठ रहा है। यहीं कारण है कि निधि को सोशल मीडिया का सहारा लेना पड़ा है।

निधि के ट्वीट करने के बाद कई लोग मदद के लिए सामने आए हैं। तीमारपुर के विधायक दीलीप पांडेय ने भी मदद की बात ट्वीटर पर कही है।

इन सब के बीच निधि का यह ट्वीट इस बात की गवाही तो दे ही रहा है कि दिल्ली सरकार की व्यवस्था अभी भी पूरी तरह से कारगर सिद्ध नहीं हो पाई है। दिल्ली सरकार की कोरोना मरीजों के ईलाज की पोल तो यह ट्वीट खोल ही रहा है। स्वस्थ भारत मीडिया दिल्ली सरकार से पूछना चाहता है कि इस तरह दिल्ली को कैसे स्वस्थ बनाया जा सकेगा? निधि के आरोपों का संज्ञान लेते हुए दिल्ली सरकार को अपनी स्वास्थ्य व्ववस्था को और मजबूत बनाना चाहिए।

किसी का नहीं उठा फोन

इस बावत स्वस्थ भारत मीडिया ने स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन से बात करने की कोशिश की लेकिन उनका फोन नहीं उठ सका वहीं दूसरी ओर तीमारपुर विधायक दीलीप पांडेय का मोबाइल न. स्वीच ऑफ बता रहा था। एलएनजेपी अस्पताल का कोई नंबर नहीं उठ पाया। जिसके कारण एलएनजेपी का बयान हम नहीं प्रकाशित कर पा रहे हैं। अस्पताल का जो भी बयान आएगा उसे भी हम आप लोगों तक पहुंचाएंगे।

 

 

Related posts

वायरस बनाम इंसानियत की जंग में चिकित्सा पद्धतियों के प्रति पूर्वाग्रह सबसे बड़ा दुश्मन है!

इस तकनीक से बने फेस मास्क कर सकते हैं कोविड-19 को नष्ट

अब दवाइयों के जेनरिक नाम बड़े अक्षरों में लिखे जाएंगे: मनसुख भाई मांडविया, रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री

swasthadmin

Leave a Comment