स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

नागालैंड के कोहिमा में पहले मेडिकल कॉलेज का हुआ उद्घाटन

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने 14 अक्टूबर को नागालैंड के कोहिमा में नागालैंड इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च (NIMSR) का उद्घाटन किया। नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो ने कहा कि आज का दिन नागालैंडवासियों के लिए एक ऐतिहासिक है।

कॉलेज के साथ रिसर्च भी

डॉ. मांडविया ने कहा कि NIMSR सिर्फ एक मेडिकल कॉलेज ही नहीं बल्कि एक शोध संस्थान भी है। यह न केवल चिकित्सा शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य को पूरा करेगा बल्कि नागा लोगों के स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों का भी समाधान करेगा। नागालैंड में चिकित्सा शिक्षा में सुधार के लिए केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता पर उन्होंने कहा कि केवल 9 वर्षों की अवधि में एमबीबीएस सीटें 64,000 से बढ़कर 1,60,000 हो गई हैं। उन्होंने यह भी कह कि इसी तरह पीजी सीटें भी पिछले 9 वर्षों में दोगुनी हो गई हैं।

विदेशों में अवसर का लाभ उठायें

केंद्रीय मंत्री ने विद्यार्थियों को अपने शोध के दायरे को राष्ट्रीय सीमाओं के भीतर सीमित न रख कर सीमाओं से परे कार्य करने को कहा। उन्होंने कहा कि हमें विदेशों में भी अवसरों का लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने यह भी बताया कि केंद्र सरकार ने कई चिकित्सा शिक्षा संस्थानों में विदेशी भाषा पाठ्यक्रम शुरू किए हैं ताकि छात्रों को विदेश में नौकरी पाने में मदद मिल सके। डॉ मांडविया ने कहा कि देश में चिकित्सा, नर्सिंग और फार्मेसी शिक्षा को सुदृढ बनाना देश के स्वास्थ्य क्षेत्र के समग्र विकास और विस्तार के लिए केंद्र सरकार का एक प्रयास है।

सपना हुआ पूरा: सीएम

राज्य के सीएम ने कहा कि सूबे में मेडिकल कॉलेज का सपना यहां के निवासियों ने लम्बे समय से देखा था जो आज यह पूरा हुआ है। उन्होंने इस परियोजना को दृढ़ता से शुरू करने के लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया। नागालैंड के स्वास्थ्य मंत्री पी पाइवांग कोन्याक ने कहा कि एनआईएमएसआर का उद्घाटन नागालैंड राज्य के लिए एक शुभ अवसर है। उन्होंने राज्य में चिकित्सा शिक्षा और स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए केंद्र सरकार का आभार व्यक्त किया।

Related posts

राजस्थान से बाहर भी करवा सकेंगे Free Organ Transplant

admin

नफरत की वायरस का ऐतिहासिक मूल्यांकन

Ashutosh Kumar Singh

सूक्ष्म और नैनो प्लास्टिक प्रदूषकों का पता लगाने के लिए नई तकनीक

admin

Leave a Comment