स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

समुद्री तटों से कचरा हटाने का महाअभियान 3 जुलाई से

नयी दिल्ली। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा अब तक का सबसे लंबा समुद्र तटीय स्वच्छता अभियान आगामी 03 जुलाई को शुरू होने जा रहा है। 75 दिन तक चलने वाला यह अब तक का सबसे लंबा तटीय स्वच्छता अभियान है, जिसका औपचारिक समापन 17 सितंबर, 2022 को आगामी ‘अंतरराष्ट्रीय तटीय स्वच्छता दिवस’ के अवसर पर होगा।

हटाया जायेगा 1500 टन कचरा

तटीय स्वच्छता अभियान का लक्ष्य समुद्री तटों से 1,500 टन कचरे को हटाना है। यह समुद्री जीवों और तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए एक बड़ी राहत होगी। यह अभियान 03 जुलाई को शुरू होगा। पूरे देश, विशेष रूप से तटीय राज्यों में इस अभियान की औपचारिक शुरुआत होगी। केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. जितेंद्र सिंह ने समीक्षा बैठक में कहा कि समुद्री जीवन और समुद्री पारिस्थिकी तंत्र की रक्षा के लिए समुद्र तटों को साफ रखना आवश्यक है। अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ (IUCN) के अनुसार विभिन्न प्रकार के उपयोग के लिए हर साल 30 करोड़ टन से अधिक प्लास्टिक का उत्पादन किया जाता है। हर साल कम से कम 1.40 करोड़ टन प्लास्टिक समुद्र में बहा दिया जाता है।

7516.6 KM लंबी तटरेखा

भारत की तटरेखा 7516.6 किलोमीटर लंबी है जिसमें 5,422.6 किलोमीटर मुख्यभूमि की तटरेखा है और 2,094 किलोमीटर तटरेखा द्वीपीय क्षेत्रों की। भारत में नौ तटीय राज्य हैं, जिनमें गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, और पश्चिम बंगाल शामिल हैं।

इंडिया साइंस वायर से साभार

 

Related posts

दिल्ली के यमुना घाट पर वृक्षारोपण, रोपे गए 75 पौधे

admin

स्वस्थ भारत यात्रा दिल्ली से जयपुर की ओर रवाना

Ashutosh Kumar Singh

उपलब्धि: देश के 108 जिलों में पहुंचा हर घर जल

admin

Leave a Comment