स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

नकली प्रोटीन पाउडर से सावधान किया स्वास्थ्य मंत्री ने

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। बॉडी में पोषक तत्वों की कमी लोग बाजार से प्रोटीन सप्लीमेंट खरीद कर सेवन करते हैं। यह प्रवृत्ति जिम जाने और बॉडीबिल्डिंग का शौक रखने वाले युवाओं में ज्यादा है लेकिन इसकी भारी मांग के कारण बाजार में नकली प्रोटीन पाउडर आने लगे हैं। इसका उपयोग फायदा के बदले हानि देता है। सरकार ने इसके खिलाफ सख्ती बरतनी शुरू कर दी है।

FSSAI ले रही एक्षन

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडवीय ने गत दिनों लोकसभा में नकली प्रोटीन पाउडर की बिक्री का मामला उठाया। मंत्रालय के मुताबिक 2022 से 2023 में नकली और असुरक्षित प्रोटीन की बिक्री के 40 हजार से भी ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। उनके कहे मुताबिक ऐसे मामले हर साल सामने आते हैं। साल 2021-22 में इन मामलों की संख्या 28,906 थी, जिसमें 4946 आपराधिक मामले दर्ज किए गए थे। वहीं 2022-23 में 38,053 सिविल मामले आए थे और 4,817 आपराधिक मामले सामने आए। इन पर Fssai एक्शन ले रही है।

गलत सप्लीमेंट्स से नुकसान

फिटनेस और डायट एक्सपर्ट भी मानते हैं कि नकली सप्लीमेंट्स लेने के कारण शरीर में एलर्जी हो सकती है। आयरन सप्लीमेंट्स खाने से कई बार जी मचलाना या फिर कब्ज की समस्या हो सकती है। ऐसे सप्लीमेंट्स लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Related posts

दिल्ली में इंद्रप्रस्थ साहित्य महोत्सव का आयोजन 18 को

admin

Brain Stroke से भारत में हर साल 1.85 लाख मौतें

admin

कोरोना का वॉर जारी, भारत में 5000 से ज्यादा हुए संक्रमित

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment