स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार

आईसीएमआर एवं एनवीबीडीसीपी की टीम करेगी बिहार का दौरा : केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे

NDHM

पानी उतरने के बाद महामारी न फैले इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, स्वच्छता मंत्रालय बिहार सरकार को हरसंभव मदद मुहैया कराएगा

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की बिहार में बाढ़ के हालात पर है पैनी नजर। केंद्र सरकार पल-पल की ले रही है जानकारी। केंद्र और राज्य सरकार हरसंभव कर रही है मदद।

पटना पहुंच श्री चौबे पानी में फंसे लोगों का हालचाल जाना अधिकारियों सहित स्थानीय एम्स व आईसीएमआर से बात की। बक्सर, कैमूर, रोहतास, पटना, भागलपुर के प्रशासन संपर्क में है श्री चौबे


पटना, 2 अक्टूबर 2019/ SBM


केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी बिहार में बाढ़ सहित पटना के हालात पर उनकी पैनी नजर है। मंगलवार को विज्ञान भवन में स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा आयोजित आरोग्य मंथन कार्यक्रम में उन्होंने बाढ़ पीड़ितों का कुशलक्षेम मुझसे पूछा था। केंद्र सरकार पल-पल बाढ़ एवं पटना की स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। केंद्र एवं राज्य सरकार हर संभव मदद में जुटी हुई है।


केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे मंगलवार को देर शाम पटना पहुंचे उन्होंने पीड़ितों का हालचाल जाना। अधिकारियों से बात की। स्थानीय एम्स एवं आईसीएमआर के डॉक्टर अधिकारियों से बात की। ताकि पानी निकलने के उपरांत लोग बीमारियों की चपेट में न आए। इसके लिए अलर्ट रहने जन जागरूकता अभियान पर भी बल देने को निर्देश दिया। पानी उतरने के बाद महामारी न फैले इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय स्वास्थ्य मंत्रालय बिहार सरकार को संभव मदद उपलब्ध कराएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने बिहार प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री श्री मंगल पांडे से भी बात की। हर संभव मदद का भरोसा दिलाया है। बक्सर, कैमूर, रोहतास, पटना भागलपुर जहां बाढ़ से अधिक परेशानी है वहां से निरंतर प्रशासन के संपर्क में है।


आईसीएमआर एवं एनवीबीडीसीपी टीम बिहार का करेगी दौरा


केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने कहा कि युद्ध स्तर पर केंद्र एवं राज्य सरकार राहत कार्यों में जुटी हुई है। मंगलवार को बिहार में बाढ़ के हालात खासकर पटना की स्थिति से केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन एवं स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुदन से चर्चा हुई। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च एवं नेशनल वेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम की टीम भी बिहार का दौरा करेगी। ताकि पानी जनित रोगों को रोका जा सके। आमतौर पर पानी उतरने के बाद पानी जनित रोग फैलने का खतरा रहता है। इसके रोकथाम अत्यंत ही आवश्यक है। इसे ध्यान में रखकर जन जागरूकता अभियान एवं हर संभव कदम उठाने के लिए बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय, मंत्री एवं अधिकारियों से संपर्क में है। लोगों को अधिक परेशानी ना हो इसका हर संभव ख्याल रखा जा रहा है।


एक दूसरे पर दोषारोपण नहीं बल्कि पीड़ितों को हरसंभव मदद पहुंचाने का है समय


केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने कहा कि मौजूदा समय एक दूसरे पर दोषारोपण करने का नहीं है बल्कि पीड़ितों को हरसंभव मदद पहुंचाने का है। इस तरह के मौकों पर धैर्य रखने की आवश्यकता होती है। बड़ी संख्या में सामाजिक संगठन के लोग भी आगे आ रहे हैं। पटना में जहां पर हालात अधिक खराब है। वहां से भलीभांति परिचित हूं। लोगों के दुख दर्द का मुझे एहसास है। पटना आने के बाद मैंने सभी का कुशलक्षेम पूछा। पूरी दुनिया जिससे स्वर कोकिला के नाम से जानती है लोक गायिका शारदा सिन्हा जी मुलाकात हुई। वे हमारे घर पर ही हैं। उनसे कुशल क्षेम पूछा। अन्य सभी लोगों की जानकारी ली। इस मौके पर सेवा भावना से सभी को काम करने की आवश्यकता है। ताकि पीड़ितों को मदद मिल सके। पानी की निकासी की व्यवस्था युद्ध स्तर पर की गई है। पानी जनित रोग न फैले इसके लिए भी महत्वपूर्ण कदम उठाए जा रहे हैं। इसके लिए जन जागरूकता भी फैलाना होगा। इसमें सामाजिक संगठनों और मीडिया की भी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। पटना से बुधवार को केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे अपने संसदीय क्षेत्र बक्सर के लिए रवाना हुए जहां वे महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर आयोजित पद यात्रा में शामिल हुए।

Related posts

रांची में संपन्न हुआ मूर्गी-पालन पर राष्ट्रीय परिसंवाद, इस उद्योग से जुड़े विशेषज्ञों ने साझा किए अपने अनुभव

swasthadmin

भ्रष्ट है राजस्थान का ड्रग डिपार्टमेंट – सर्वेश्वर शर्मा

Vinay Kumar Bharti

Spinning of charkha is a harbinger of psychological and emotional well-being.

swasthadmin

Leave a Comment