स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

भारत चिकित्सा उपकरण और फार्मा निर्यात में अग्रणी बनेगा : मांडविया

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। भारत अब चिकित्सा उपकरण और फार्मा निर्यात में वैश्विक शक्ति बनेगा न कि किसी पर निर्भर रहेगा। यह जानकारी केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया ने दी। उन्होंने इस लक्ष्य के लिए थोक दवाओं और चिकित्सा उपकरण बनाने के लिए में 40 नये प्लांट का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि इससे देश दवाओं और मेडिकल उपकरणों के मामले में आत्मनिर्भर बनेगा। इसे PIL योजना के तहत बनाया गया है।

महामारी काल में असर पड़ा

कोविड महामारी के दौर की चर्चा करते हुए डनहोंने कहा कि जब सप्लाई चेन प्रभावित हुई थी, तो हमें पता चला कि थोक दवाओं और महत्वपूर्ण चिकित्सा के मामले में आयात पर जरूरत से अधिक निर्भरता कितनी घातक साबित हो सकती है। इसके बाद सरकार ने गंभीर मंथन किया। उनके मुताबिक महत्वपूर्ण घटक API (Active Pharmaceutical Ingredient) की सप्लाई रुकने से देश में एक हजार फॉर्मूलेशन के उत्पादन पर असर पड़ सकता है।

22 थोक दवाओं का होगा निर्माण

मंत्री ने कहा कि इस स्कीम में स्थानीय स्तर पर उत्पादन के लिए 48 अहम थोक दवाओं की पहचान की गयी। अब भारत ने ना सिर्फ दवा, एपीआई और चिकित्सा उपकरणों पर अपनी निर्भरता कम की है बल्कि इन उत्पादों के एक प्रमुख निर्यातक के रूप में भी उभर रहा है। उन्होंने कहा कि आज हमने जिन प्लांट का उद्घाटन किया है, उनके साथ अब 22 थोक दवाओं का निर्माण भारत में किया जाएगा।

Related posts

10 महीने में टेली-मानस पर दो लाख से अधिक कॉल्स

admin

बिहार में बनेंगे सात नये अस्पताल

admin

स्वस्थ समाज की परिकल्पना में बालिकाओं का स्वस्थ होना जरूरीः प्रो. बीके कुठियाला

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment