स्वस्थ भारत मीडिया
साक्षात्कार / Interview

गाय के गोबर से ईंधन बनाकर जापान ने लॉन्च किया रॉकेट

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। जापान के अंतरिक्ष उद्योग ने गाय के गोबर से इंधन विकसित कर एक प्रोटोटाइप रॉकेट इंजन का परीक्षण किया है। यह अंतरिक्ष सेक्टर में एक नये अध्याय को खोल रहा है। वैज्ञानिकों ने कहा है कि ये ईंधन प्रचूर मात्रा में मौजूद स्थानीय स्रोत से हासिल किया गया है और गाय के गोबर की कोई कमी नहीं है।

सस्ता और उच्च शुद्धता भी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वैज्ञानिकों ने इस प्रयोग के दौरान गाय के गोबर से बने बायोमीथेन गैस से रॉकेट को लॉन्च किया है। जापान के ग्रामीण उत्तरी शहर ताकी में लगभग 10 सेकंड के लिए एक खुले हैंगर दरवाजे से क्षैतिज रूप से 30-50 फीट की दूरी पर इस रॉकेट के इंजन ने एक नीली और नारंगी लौ फेंकी। इंटरस्टेलर टेक्नोलॉजीज के मुख्य कार्यकारी ताकाहिरो इनागावा के मुताबिक आवश्यक तरल बायोमीथेन गैस पूरी तरह से दो स्थानीय डेयरी फार्मों से गाय के गोबर से बनाया गया था। उनने कहा कि हम ऐसा सिर्फ इसलिए नहीं कर रहे हैं, क्योंकि यह पर्यावरण के लिए अच्छा है, बल्कि इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि इसे स्थानीय स्तर पर उत्पादित किया जा सकता है। यह ईंधन काफी सस्ता है और उच्च प्रदर्शन और उच्च शुद्धता वाला है।

भविष्य में दुनिया भर में होगा इस्तेमाल

इंटरस्टेलर ने औद्योगिक गैस उत्पादक फर्म एयर वॉटर के साथ मिलकर रॉकेट के लिए ईंधन बनाने का यह काम किया है। यह स्थानीय किसानों के साथ काम करता है, जिनके पास अपने खेतों पर गाय के गोबर को बायोगैस में संसाधित करने के लिए उपकरण हैं, जिसे वायु जल एकत्र करता है और रॉकेट ईंधन में बदल देता है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ये ईंधन अंतरिक्ष में रॉकेट को भेजने के लिए पूरी दुनिया में इस्तेमाल किया जाएगा।

Related posts

स्वस्थ भारत यात्रा का तीसरा चरण शुरू

Ashutosh Kumar Singh

भारत का गगनयान मिशन 2024 मेंः इसरो प्रमुख

admin

2025 तक लंबी छलांग लगा सकती है भारत की बायो इकनॉमी : सुधांशु व्रती

admin

Leave a Comment